मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा लगातार जारी है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा लगातार जारी है। वे अब तक 40 जिलों में 13 हजार किलोमीटर यात्रा कर चुके हैं। 15 जुलाई को उज्जैन से शुरू हुई यात्रा को भाजपा 25 सितंबर को कार्यकर्ता महाकुंभ के साथ खत्म करने जा रही थी, लेकिन अब इसे चुनाव तक जारी रखा जा रहा है। भाजपा का चुनाव अभियान एक ही चेहरे पर टिक गया है।
पिछले चुनावों में मिली सफलता को देखकर भाजपा ने इस बार भी जनआशीर्वाद यात्रा को ट्रंप कार्ड मानकर चला था और यही नजर भी आ रहा है। सवर्ण आंदोलन की आंच को छोड़ दिया जाए तो जनआशीर्वाद यात्रा ने भाजपा की एंटी इनकंबेंसी को थामने का काम किया है। जनआशीर्वाद यात्रा जहां-जहां पहुंची, उन इलाकों की तस्वीर भी बदलती नजर आई। जिन सड़कों से शिवराज के रथ को गुजरना था, उन्हें रातों-रात प्रशासन ने चमका दिया। कहीं हैंडपंप खुदे तो कहीं बिजली के ट्रांसफार्मर चुटकियों में बदल दिए गए।
झा बने सारथी तो कैलाश ने बनाई दूरी
जनआशीर्वाद यात्रा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा के रिश्तोंं के बीच आई रिक्तता को भरने का काम किया है। झा इस यात्रा में सीएम के साथ सारथी की तरह सवार हैं लेकिन राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय शुरुआत को छोड़कर पूरी यात्रा में कहीं शामिल नहीं हुए। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी ग्वालियर-चंबल अंचल के इक्का-दुक्का जिलों में नजर आए।
ऐसे नजर आए मनमुटाव
रतलाम: पूर्व मंत्री हिम्मत कोठारी व विधायक चेतन्य काश्यप में खींचतान। कोठारी ने अलग स्वागत मंच लगाए।
भिंड: कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए चौधरी राकेश सिंह ने दूरी बनाई। रौन के वरिष्ठ नेता राजेंद्र प्रकाश सिंह भी यात्रा में शामिल नहीं हुए।
कटनी पूर्व विधायक गिरिराज किशोर पोद्दार ने सोशल मीडिया पर नाराजगी जताई। कन्हैया तिवारी, पूर्व विधायक सुनील मिश्रा ने भाजपा छोड़ दी।
नरसिंहपुर: यात्रा के दो दिन बाद किसान मजदूर संघ ने प्रदर्शन किया।
खंडवा: विधायक देवेंद्र वर्मा का टिकट काटने की मांग दीना पंवार, कौशल मेहरा ने उठाई।
कहां हुए क्या काम, कैसी रही घोषणाएं
मंदसौर/नीमच: पिपलिया मंडी में हॉस्पिटल, कॉलेज, मल्हारगढ़ में रेलवे फाटक, मनासा-नीमच में भूमिपूजन-लोकार्पण किया। बांध प्रभावित किसानों पर दर्ज केस वापस लेने व भावांतर भुगतान की तारीख 31 अगस्त करने की घोषणा की।
खंडवा: नर्सिंग कॉलेज, अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा की घोषणा की। मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन, दीनदयाल उपाध्याय प्रतिमा का अनावरण, जावर माइक्रो सिंचाई योजना का भूमिपूजन, पुनासा में सिंचाई योजना का लोकार्पण।
सागर: रहली में रातों-रात बनी पुलिया। 14 अरब रुपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन किया। सड़कों के गड्ढे छिपाने पेंचवर्क किया। स्ट्रीट लाइट लगाई, बाद में हटा ली गई।
दमोह: 1.26 अरब की घोषणाएं। दो माह गुजरे, काम शुरू नहीं। पटेरा में कॉलेज खोलने और रुक्मिणी देवी की प्रतिमा लगाने, होम्योपैथी अस्पताल की घोषणाएं हुई।
दतिया: भांडेर से सोहन मार्ग पर बिजली के खंभे शिफ्ट किए गए। यात्रा के बाद से इस इलाके के लोग बिजली कटौती से काफी परेशान हैं, जबकि रथ यात्रा के पहले तक पर्याप्त बिजली मिली।
मुरैना: बुधारा से पोरसा मार्ग के गड्ढे सुधर गए। एमएस रोड पर खोदी गई सड़क की मरम्मत शुरू कर दी गई थी, लेकिन समय पर काम न हो पाने से उसे अधूरा छोड़ यात्रा का रूट बदल दिया।
सतना: रातों रात सड़कों पर मरम्मत, पर दो दिन बारिश में डस्ट बह गई। जिन गांवों में जनसभाएं होनी थी, वहां लोगों से योजनाओं के फार्म भरवाए गए।
रतलाम: यात्रा से पहले सड़कें सुधारीं। मेडिकल कॉलेज, छत्रीपुल, नए कलेक्टर का…

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा

Reactions: