बरखेड़ा गंगासा के प्रसिद्ध स्थल पर छठे दिन उमड़ा जनसैलाब

गरोठ से अटल गोस्वामी की रिपोर्ट। ..  गरोठ - बरखेड़ा गंगासा प्रतिवर्षा अनुसार इस वर्ष भी आश्विन नवरात्रि पर्व बरखेड़ा गंगासा में बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। JMD ग्रुप के तत्वाधान में अति प्राचीन चमत्कारी मां दुधाखेड़ी मंदिर परिसर में आयोजित नव दिवसीय गरबा उत्सव में गांव की गरबा टीमें तो डांडिया प्रदर्शन कर ही रही है लेकिन दूर-दूर से भी कई गांव की अतिथि गरबा टीमें भी मां दुधाखेड़ी के दरबार में डांडिया खेलने आ रही है।डांडिया खेलने वाली प्रत्येक टीम को JMD ग्रुप व अन्य ग्राम वासियों द्वारा पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाता है। पिछले 13 वर्षों से JMD ग्रुप के तत्वाधान में गरबा उत्सव का यह आयोजन किया जा रहा है। इस स्थान पर हजारों श्रद्धालुओं के आने का एक कारण यह भी है कि करीब 6000 की आबादी वाले इस गांव में मात्र एक ही स्थान पर गरबे का आयोजन होता है, और यहां पर किसी भी व्यक्ति के साथ किसी भी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं किया जाता है, एक तरह से गांव की एकता का केंद्र माना जाता है।यहा पर मां के समस्त भक्तजन एक समान है मां दुधाखेड़ी का दरबार मां की आराधना के छठे दिन हजारों की संख्या में श्रद्धालुओ ने आकर धर्म लाभ लिया साथ ही शरद पूर्णिमा को विशाल भंडारे मां दुधाखेड़ी के समस्त भक्त जनों के सहयोग से बरखेड़ा गंगासा के समस्त नागरिक  अपना व्यवसाय, प्रतिष्ठान, कृषि कार्य, सहित अन्य कामकाज बंद रखते हैं भंडारे के दिन गांव में एक भी घर चूल्हा नहीं जलता है, किसी के भी घर खाना नहीं बनता है, समस्त ग्रामवासी व बाहर से पधारे समस्त भक्तगण इसी भंडारे में भोजन प्रसादी ग्रहण करते हैं एवं सुबह से शाम तक कार्यकर्ता भंडारे में ही श्रमदान करते हैं।भंडारा समिति के कार्यकर्ता गरोठ-खड़ावदा मुख्य रोड से गुजरने वाले वाहनों को रोककर प्रसादी का आग्रह किया जाता है।गांव सहित आसपास के गांव के भक्तजनों के सहयोग से पिछले 21वर्षों से निरंतर शरद पूर्णिमा के दिन मां दुधाखेड़ी के प्रांगण में भंडारे का आयोजन होता आ रहा है, यह साल भंडारे का 22 वां वर्ष है।इस आयोजन में समस्त ग्रामवासी एवं आस-पास के गांव के कई भक्तजनों का विशेष सहयोग से मां दुधाखेड़ी के भंडारे के साथ तीन दिवसीय मेला भी लगता है।

गरोठ से अटल गोस्वामी

Reactions: