क्षेत्र की आस्था का केंद्र है माँ बिजासन इकलेरा माता जी का दरबार

टोंकखुर्द से विजेन्द्रसिंह। ..... टोंकखुर्द-तहसील मुख्यालय से 28 किमी दूर इकलेरा माताजी की पहाड़ी पर स्थित है माँ बिजसनी का मंदिर जो पूरे क्षेत्र की आस्था का केंद्र बिंदु है ।बताया जाता है कि हजारों वर्ष पूर्व यहां पर मां बिजासन एक चट्टान फाड़कर प्रकट हुई थी चट्टान के कुछ ही दूरी पर माता का भव्य मंदिर बना हुआ है ।जहां पर दोनों ही नवरात्रि के समय श्रद्धालुओं की अपार भीड़ लगती है, चैत्र नवरात्रि के समय यहां पर 9 दिन तक मेला लगता है एवं शतचंडी महायज्ञ का भी आयोजन होता है । सबसे बड़ी विशेषता यह है कि  यहां पर मंदिर मूर्ति स्थापना के समय से ही अखंड ज्योत आज भी जल रही है ।इसी के साथ साथ यहां पर यह भी मान्यता है कि मां बिजासन के दरबार में जो भी मन्नत मांगी जाती है वह पूर्ण होती है इसी का परिणाम है कि मन्नत पूर्ण होने के बाद श्रद्धालु अपनी इच्छा अनुसार मां के दरबार में पहुंचकर चढ़ावा चलाता है ।सर्वाधिक मन्नत का कार्यक्रम माघ माह में होता है इस महीने में यहां पर हजारों की संख्या में प्रतिदिन लोग पहुंचते हैं एवं मां का चढ़ावा चढ़ा कर आस्था व्यक्त करते हैं ।वर्तमान में गुजराती रामी माली समाज द्वारा पूजा अर्चना का कार्य किया जाता है मंदिर के पास ही दूध तलाई भी बनी हुई है बताया जाता है कि यहां पर भी स्नान करने का सर्वाधिक महत्व है।

क्षेत्र की आस्था का केंद्र है माँ बिजासन इकलेरा माता जी का दरबार

Reactions: