फसल नुकसानी के सर्वे को लेकर अलग-अलग संगठनों ने सौंपा ज्ञापन

p-347

टोंक खुर्द से विजेंद्र सिंह की रिपोर्ट                                राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ व भारतीय किसान संघ टोंकखुर्द द्वारा अलग अलग ज्ञापन देकर अपनी समस्या बताई

टोंकखुर्द। कहर बनकर टूटी ठंड से तबाह हुई आलू, चने, मक्का, धनिया आदि फसल का मुवावजा सर्वे कर जल्द मिले व किसानों की अन्य ज्वलंत समस्याओं को लेकर आज टोंकखुर्द तहसीलदार शिवकुमार यादव को किसान संगठनों ने मुख्यमंत्री के नाम  ज्ञापन दिया।

ज्ञापन में ठंड से हुए नुकसान का सर्वे कर मुवावजा, घोषणा पत्र अनुसार किसानों के 2 लाख शीघ्र माफ हो, किसानों के मुकदमे वापिस लिए जाए, समर्थन मूल्य मिले, 10 घंटे बिजली मिले, प्याज , टमाटर, लहसून का समर्थ मूल्य तय करे, सोयाबीन, प्याज लहसून की प्रोत्साहन राशि जल्द किसानों को मिले।किसानों ने बताया कि  भारतिय स्टेट बैंक भोरासा शाखा से 2017 की बीमा राशि आजतक नही दी वह भी जल्द दिलावे। राज्य सरकार द्वारा योजनानुसार ग्राम आबादी में किसानों के नाम से भूमि के पट्टे बनाये जाए। सोयाबीन की 500 रुपए भावन्तर का भुकतान करे। मंडी में किसानों को पूर्ण पेमेंट हो आदि समस्याओं को जल्द हल करने का ज्ञापन दोनो संगठनों ने दिया। ज्ञापन देने तहसील के करीब 20 गांवो के लगभग 200 से ज्यादा किसानों ने पाला रहित फसल के पौधे हाथ मे लेकर नारे बाजी करते हुए तहसील मुख्यालय पहुँचे ओर ज्ञापन दिया। जिसमें ग्राम जिरवाय,जमोनिया, देवली, अमौना, आगरोद,सेकली, इकलेरा माता जी, रालामंडल, सामगी, कन्हेरीया, बाला खेड़ा, बिसलखेडी  सहित अन्य गांवो के  किसानों ने भाग लिया। ज्ञापन का वाचन मानसिह कोठारी ने किया। 

वंहा भाजपा के उमेश श्रीवास्तव, मेहमुद पटेल, दीपेश व्यास, गोपाल मकवाना, हरिसिंह सैंधव, कुमेरसिंह, सोदानसिंह, शुभाष चंद्र पुजारी रविंद्रसिंह सैंधव सहित सेकड़ो किसानों  उपस्थित थे मोके पर टोंकखुर्द पुलिस बल भी मौजूद था। किसानों ने बताया कि समस्या जल्द हल नही हुई तो आंदोलन करेंगे। 


इस संबंध में जब टोंकखुर्द तहसीलदार से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि पटवारी ओर कृषि विभाग की संयुक्त टीम द्वारा  सतत सर्वे किया जा रहा है जल्द जांच संबंधित बीमा कंपनी को सोपि जावेगी।

शिवकुमार यादव तहसीलदार टोंकखुर्द

Reactions: