गमी के कार्यक्रम से लौटते समय रालामंडल के युवक की बाइक दुर्घटना में मौत गांव में छाया मातम।

विजेन्द्रसिंह ठाकुर 
टोंकखुर्द से 5 किमी दूर ग्राम रालामंडल के युवक की दुर्घटना में मौत होगई, जैसे ही खबर गांव में मिली तो गांव में मातम छागया परिवार को नही दी घटना की सूचना खबर के बाद गांव में शाम को नही जले चूल्हे। टोंकखुर्द के पास रालामंडल निवासी राजेन्द्रसिंह सैंधव सुबह 9 बजे ग्राम बमुलिया रायमल जावर एक पगड़ी रस्म में गए थे उसके बाद आते समय सोनकच्छ के पास गमी में बैठने जलेरिया गए और
 गमी के कार्यक्रम से लौट रहे थे की रास्ते में बाईक भिडंत में मौत हो गई वहीं दूसरी ओर दूसरी बाईक पर सवार दोनों व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें जिला चिकित्सालय अस्पताल भेजा गया। सोनकच्छ पुलिस से
प्राप्त जानकारी अनुसार समीपस्थ ग्राम भागसरा फाटे पर दोपहर 2.30 बजे दो बाईक की जोरदार भिडंत हो गई जिसमें एक बाईक पर राजेन्द्रसिंह पिता फतेसिंह सेंधव (40 वर्ष) निवासी टोंकखुर्द तहसील ग्राम राणामण्ड़ल के ग्राम जलेरिया से गमी के कार्यक्रम में शामिल होने गए थे वापिस कार्यक्रम से लौट रहे थे तथा दूसरी बाईक पर सवार महेन्द्र पिता नारायणसिंह (42 वर्ष) व बंटी पिता गोविंद विजय (35 वर्ष) दोनों निवासी ग्राम खेरिया साहू अपने घर जा रहे थे कि अनाचक से भागसरा फाटे पर दोनों बाईक सवार की आपस में जोरदार भिडंत हो गई फलस्वरूप राजेन्द्रसिंह को सिर में एवं महेन्द्र व बंटी को सिर, सीना व हाथ-पैर में गंभीर चैटे आई। 100 डायल की मदद से तीनों घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया जहां उपस्थित डाॅक्टर आसिफ शेख ने प्राथमिक उपचार किया चूकि तीनों की हालत गंभीर होने के कारण तीनों को जिला चिकित्सालय भेजा गया जिसमें राजेन्द्रसिंह ज्यादा गंभीर चोटे आई थी जिससे राजेन्द्रसिंह की देवास पहुंचने के पहले ही मौत हो गई तथा महेन्द्र व बंटी अस्पताल में उपचारत है।  ग्रामीणों को शाम को मिली जानकारी वैसे ही देवास पहुचे। राजेन्द्रसिंह सैंधव का एक 11 वर्ष का लड़का है ओर पिछेले 3 माह पूर्व राजेन्द्रसिंह के बड़े भाई कुमेरसिंह सैंधव का बीमारी के कारण निधन हो गया। उधर गांव पर जैसे ही खबर मिली गांव में मातम छा गया और एका एक कई साथी देवास पहुँच गए लेकिन सुबह तक उनके बेटे दीपक सैंधव, पत्नी व पिता फतेसिंह को घटना की जानकारी के बारे में नही बताया गया है। देवास पीएम होने के बाद उनका शव सुबह गांव रालामंडल लाया गया और 9 बजे अंतिम संस्कार किया वही घटना की सूचना के बाद उनकी बहन कोमल बाई की बदहवास हो गई जिन्हें टोंकखुर्द के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपचार हो रहा है वे अभी स्वस्थ्य है।

आज 09 बजे हुआ अंतिम संस्कार बेटे दीपक को आखरी तक नही चला पता

Reactions: