कमलनाथ कांग्रेस नेता नहीं मेरे तीसरे बेटे हैं इंदिरा गांधी

आशीष जैन ,,,,   1980 में इंदिरा गांधी ने अपने भाषण में कहा था कमलनाथ नेता नहीं मेरा तीसरा बेटा है कमलनाथ ने पहला चुनाव 38 साल पहले 1980 में छिंदवाड़ा संसदीय सीट से लड़ा था तब उनके प्रचार के लिए तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष इंदिरा गांधी आई थी इंदिरा ने मंच से कहा था कमलनाथ नेता  नहीं मेरे तीसरे बेटे हैं कमलनाथ का सफर,,,,, कमलनाथ 1980 में छिंदवाड़ा से पहली बार चुनाव लड़े थे और  जीते थे जब उनकी उम्र34 साल थी उस दिन तारीख 13 दिसंबर 1980 थी और जब प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में उनके नाम का ऐलान हुआ जब भी तारीख 13 दिसंबर 2018  ही है ,,, प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में उनके नाम का ऐलान  इंदिरा गांधी के पोते राहुल गांधी ने  ही किया है,,, अब तक 9 बार सांसद चुनाव जीत चुके हैं एक बार उपचुनाव  हार चुके थे।                                                                                                                                        गांधी परिवार से ही रिश्ता,,,, कमलनाथ की स्कूल में पढ़ने के दौरान संजय गांधी से दोस्ती हुई संजय गांधी कमलनाथ को निरंजन दास मुंशी और सिद्धार्थ शंकर रे की तोड़ के लिए  लेकर आए थे दोनों ने ही मिलकर छोटी कार बनाने का सपना भी देखा था नाथ का जन्म 1946 कानपुर उत्तर प्रदेश पिता का नाम महेंद्र नाथ माता लीला ना नाथ पत्नी अलका नाथ दो बेटे मुकुल नाथ गोकुलनाथ है नाथ की शिक्षा बी कॉम दून स्कूल और सेंट जेवियर्स कॉलेज कोलकाता है अब तो कमलनाथ केंद्र सरकार में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, कपड़ा मंत्रालय, वन एवं पर्यावरण, सड़क और परिवहन, मंत्री रह चुके हैं कमलनाथ का प्रोफेशन उद्योगपति कृषि और सामाजिक कार्यकर्ता में गिना जाता है

1980 में इंदिरा गांधी ने अपने भाषण में कहा था

Reactions: