मंदसौर पहुंचा 400 टन यूरिया, कल 1600 टन और आएगा, खत्म होगी किल्लत

गजेंद्र सिंह  की रिपोर्ट।  .......                                                                                                                                                     2 लाख 2 हजार हेक्टेयर खेती में अब तक लग गया 18 हजार टन यूरिया, एक सप्ताह से किसान सोसायटी के लगा रहे थे चक्कर, अब मिलेगी राहत

जिले में 2 लाख 2 हजार हेक्टेयर रबी की फसल के लिए मप्र राज्य सहकारी विपणन संघ के जिला अधिकारी ने करीब 14 हजार टन यूरिया का लक्ष्य तय कर मांग भेजी। जिले में अब तक 18 हजार टन यूरिया की खपत हो चुकी है। इसके बाद भी एक सप्ताह से किसान यूरिया के लिए सोसायटियों के चक्कर लगा रहे हैं। गुरुवार को उनका यह इंतजार खत्म हुआ। रतलाम में रैक लगने के बाद गुरुवार को दिनभर में करीब 400 टन यूरिया सभी सोसायटियों पर पहुंचा व और भी आएगा। ऐसे में अब रबी की फसल के लिए यूरिया की किल्लत खत्म होने की उम्मीद है।
जिले के करीब डेढ़ लाख से अधिक किसानों ने रबी के सीजन में 2 लाख 2 हजार हेक्टेयर में बोवनी की। रबी में गेहूं सहित सभी फसलों में ग्रोथ के लिए यूरिया खाद की आवश्यकता होती है। ऐसे में मप्र राज्य सहकारी विपणन संघ द्वारा मांग के अनुसार किसानों के लिए यूरिया की डिमांड भेजी जाती है। सोसायटियों के माध्यम से वितरण किया जाता है। संघ के जिला अधिकारी ने रबी सीजन के लिए 14 हजार टन यूरिया की डिमांड शासन को भेजी लेकिन जिले में इससे कई अधिक यूरिया की खपत हो रही है। 14 हजार टन यूरिया खत्म होने के बाद मांग करने व आने में समय लगता है। इससे सोसायटियों पर किसानों को समय पर यूरिया नहीं मिल रहा है। आए दिन सोसायटियों पर किसानों की लाइनें लग रही हैं। एक से डेढ़ सप्ताह पहले तक जिले में संघ द्वारा 18 हजार टन यूरिया का वितरण किया जा चुका है जिसके बाद भी मांग बनी है। एक सप्ताह से किसान यूरिया के लिए सोसायटियों में चक्कर लगा रहे हैं। समय पर यूरिया नहीं डालने पर फसलों की ग्रोथ प्रभावित हो सकती है जिससे किसान परेशान हो रहे हैं। गुरुवार को उनकी समस्या का समाधान हुआ। सुबह रतलाम में यूरिया की रैक लगी। जिला अधिकारी ने भी जल्द से जल्द किसानों को यूरिया उपलब्ध कराने के लिए बुधवार रात को ही ट्रक रतलाम भेज दिए। सुबह ट्रक मंदसौर के लिए रवाना होने लगे। गुरुवार शाम तक पिपलियामंडी में 25, शामगढ़ 36 सहित जिले की विभिन्न सोसायटियों में करीब 400 टन यूरिया का वितरण किया।
नीमच में भी रैक लगने वाली, जिले को कुल 2 हजार टन और यूरिया मिलेगा
रतलाम में लगी रैक से मंदसौर जिले को करीब 23 हजार टन यूरिया मिलना है। गुरुवार को देर शाम तक 400 टन यूरिया मंदसौर आया। रतलाम में ट्रकों का लोड होना जारी है। शुक्रवार-शनिवार को भी 1600 टन यूरिया मंदसौर आना है। यही नहीं दो दिन बाद नीमच में भी यूरिया की रैक लगने वाली है। इसमें मंदसौर जिले के लिए करीब 400 टन यूरिया आना है। ऐसे में अभी भी जिले को 2 हजार टन यूरिया मिलेगा। इससे जिले में यूरिया की समस्या खत्म होगी।
दो दिन में यूरिया की समस्या खत्म हो जाएगी
जिले के लिए 14 हजार यूरिया की मांग की गई थी। किसान दो की बजाय तीन बार यूरिया का उपयोग कर रहे हैं जिससे मामला गड़बड़ाया। अब तक 18 हजार टन यूरिया का वितरण किया जा चुका है। गुरुवार को भी 400 टन यूरिया सोसायटियों में वितरण किया गया। रतलाम से अभी 1600 व दो दिन बाद नीमच से 400 टन यूरिया आना है। इससे यूरिया की समस्या खत्म हो जाएगी।
ए.एल. पांडे, जिला विपणन अधिकारी

2 लाख 2 हजार हेक्टेयर खेती में अब तक लग गया

Reactions: