श्रीराम फाइनेंस कारपोरेशन लिमिटेड कंपनी बनी फर्जीवाड़े का अड्डा

ब्यूरो रिपोर्ट नरसिंगपुर जिला हेड
इमरान खान गाडरवारा।                                                                                                                                                                                                             
                गाडरवारा श्रीराम फाइनेंस कारपोरेशन कंपनी किसी परिचय की मोहताज तो नहीं सालाना 8 करोड़ का टर्नओवर करने वाली कंपनी अपने कर्मचारियों के अधिकारों का हनन करती है। 25 करर्मचारी कार्यरत हैं। पर किसी के पास भी ना तो जॉइनिंग लेटर है। और ना किसी के पास आईडी प्रूफ है।और ना किसी का PF करता है महज 1 वर्ष में 10 बीएम बदल चुकी है।कंपनी किसी को कोई भी कारण नहीं बताया जाता किसी को भी कभी भी टर्मिनेट कर दिया जाता है। किसी को भी कभी भी प्रमोट कर दिया जाता है।जब हमने कंपनी में कार्य करने वाले पूर्व कर्मचारी अतुल पटेल और रिंकू शर्मा से बात की तो उन्होंने बताया कि हमने रात दिन मेहनत की पर हमें टर्मिनेट कर दिया गया जब हमने कारण जानना चाहा तो हमें आज तक कोई भी कारण नहीं बताया गया और ना हमें एनओसी दी गई जब हमारी टीम ने ब्रांच मैनेजर से बात की तो उन्होंने भी कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया कंपनी का कोई अधिकारी बात करने को तैयार नही और सारे मामले पर चुप्पी साधे हैं। अब ऐसे में आम जनता कहा तक ऐसे लोगों से सुरक्षित हो जिस कंपनी के खुद के कर्मचारी आरोप लगा रहे है । प्रशासन एबं मानव अधिकार आयोग इस पर विशेष ध्यान दे और कंपनी जी ठीक से जांच की जाए। ऐसी लापरवाह कंपनी पर लगाम लगाएं।

अपने कर्मचारियों के अधिकारो का कर रही हनन।

Reactions: