सच्चे दिल से आराध्य करने वाले श्रद्धालुओं की यहां शीघ्र होती है मन्नत पूरी

संवाददाता : विवेक चौबे। ....                                                                                                                                                                                                       
                                                                                                                                                                           Jharkhand/गढ़वा : जिले के कांडी प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत सरकोनी पंचायत में स्थित प्रसिद्ध सतबहिनी झरना तीर्थ स्थल एक अनमोल प्राकृतिक धरोहर है।सालों भर झर-झर झरते मनोरम झरना के कारण अति सौंदर्यवान व आकर्षक स्थल है। यहां पर्यटकों का आवागमन सालों भर जारी रहता है। विशेषकर यहां छठ पर्व में लाखों छठ व्रतियों व श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है।कहा जाता है कि सच्चे दिल से आराध्य करने वाले श्रद्धालुओं की हर मन्नत शीघ्र पूरी होती है।बता दें कि उक्त स्थल पर झारखण्ड राज्य के तकरीबन सभी जिलों के साथ साथ छत्तीसगढ़,दिल्ली,उत्तरप्रदेश,मध्यप्रदेश,बिहार,पंजाब,राजस्थान सहित देश के विभिन्न राज्यों से भी श्रद्धालु पहुंचते हैं।प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष विशेष रूप से यहां झारखण्ड हिन्दू धार्मिक न्यास बोर्ड सतबहिनी झरना तीर्थ स्थल के तहत व्यवस्था की गई है।                                                                                                                                                                                             
                                                                                                                                                                    छोटी छठ पर हजारों छठ व्रतियों ने उक्त झरना तीर्थ स्थल पर पहुंचकर भगवान भाष्कर के अस्त होते हुए संध्या बेला में अधर्य दिया गया।इस मौके पर उमड़ती श्रद्धालुओं की भीड़ देखकर विधायक प्रतिनिधि-अजय सिंह के द्वारा लगातार अपील किया जा रहा था कि अभिभावक अपने बच्चों को झरना के निकट न जाने दें,न स्नान करने दें।विधायक प्रतिनिधि-अजय सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि सतबहिनी झरना तीर्थ स्थल में ट्रस्ट द्वारा झरना के नीचे पानी काफी कम किया जा चुका है,जिससे कोई अनहोनी न हो पाए।उन्होंने बताया कि छठ महापर्व को लेकर पूरे क्षेत्र में ट्रस्ट के द्वारा लाइट, साउंड, पंडाल आदि लगाया गया है।साथ ही बड़ी छठ को व्रतियों के लिए सुबह में चाय, बाहर से आए हुए लोगों को रात में भोजन व छोटे बच्चों के लिए दूध का व्यवस्था भी किया गया है।साथ ही उन्होंने बताया कि रात्रि में सुरक्षा व्यवस्था भी उपलब्ध रहेगा।                                                                                                                                                                                                                                                                                                                             

पर्यटकों का आवागमन सालों भर जारी रहता है

Reactions: