कोटा में सरकारी अस्पताल में 50 घंटे में 11 बच्चो की मौत


*कोटा(राज.)*
राजस्थान का कोटा वैसे तो कोचिंग संस्थानों की वजह से प्रसिद्ध है लेकिन अब वह सरकारी अस्पतालों की बदहाल व्यवस्थाओं को लेकर भी चर्चा में आ गया है। कोटा के सरकारी जेके लोन अस्पताल में पिछले 50 घंटे में 11 बच्चों की मौत हो गई है। इस मामले के सनसनीखेज खुलासे के बाद गहलोत सरकार भी हरकत में आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घटना के बाद सरकार ने अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एच.एल मीणा को हटा दिया गया है। इसके बाद सरकारी अस्पताल में इलाज की व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैं । एक तरफ जहां अस्पताल प्रशासन और चिकित्सा विभाग के अधिकारी बच्चों की मौत का कारण स्वाभावित और सामान्य बता रहे हैं,वहीं मृतक बच्चों के परिजनों ने बुधवार को हंगामा करते हुए लापरवाही का आरोप लगाया है।
सीएम अशोक गहलोत के निर्देश पर चिकित्सा मंत्री ने इस मामले की जांच के लिए 3 सदस्यीय जांच कमेटी बनाई है। जानकारी के मुताबिक बीते सोमवार को 6, मंगलवार को 4 और बुधवार को 1 बच्चे की मौत हुई है। ये सभी बच्चे अस्पताल के आईसीयू में भर्ती थे। बताया जा रहा है कि इसी अस्पताल में दिसंबर महीने में अभी तक 77 बच्चों की मौत हो चुकी है। ऐसे में इतनी बड़ी लापरवाही के सामने आने से सरकार की नींद भी उड़ गई है।

Reactions: