शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार 2 जून को शाम 5 बजे मिन्टो हाल में होगा 



भोपाल। देशव्यापी लॉक डाउन का चौथा चरण पूरा होते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करने जा रहे हैं। संभवतः 2 जून को शपथ समारोह हो सकता है। इससे पहले मुख्यमंत्री 1 जून को दिल्ली जाएंगे। जहां पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं अन्य नेताओं से मध्य प्रदेश के राजनीतिक घटनाक्रम को लेकर चर्चा करेंगे। सभी मंत्रियों के नाम दिल्ली में ही तय होंगे। वे नामों की सूची लेकर उसी दिन शाम को भोपाल लौटेंगे और अगले दिन मंत्री पद की शपथ होगी।
प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा, संगठन महामंत्री स्वास्थ भगत के साथ अलग-अलग समय में बैठक श कर चुके हैं। इस दौरान मंत्री पद के दावेदार कई विधायकों के नाम पर मंथन हुआ, लेकिन मध्य प्रदेश संगठन के साथ मुख्यमंत्री अपने मंत्रिमंडल के सदस्यों को अंतिम रूप नहीं दे पाए । कुछ नामों पर अभी भी कह फंसा हुआ है, ऐसे में मंत्रिमंडल के सदस्यों का फैसला भाजपा हाईकमान ही करेगा। शिवराज के मंत्रिमंडल में दो दर्जन करीब नए मंत्री शामिल हो सकते हैं। ऐसे में मंत्रियों की संख्या 29 या 30 हो सकती है। क्योंकि पहले से पांच मंत्री है। सूत्रों से खबर है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज शाम को भी पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा से दूरभाष पर चर्चा करेंगे। वे कल दिल्ली जा सकते हैं उनके साथ प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा भी दिल्ली जाएंगे।

सीएम बनने के बाद पहली बार जाएंगे दिल्ली
शिवराज सिंह चौहान चौथी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद पहली बार कल दिल्ली जाएंगे।सीएम पद की शपथ लेने के अगले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशव्यापी लॉक डाउन का ऐलान कर दिया था। इसके बाद लॉक डाउन लगातार बढ़ता गया। लॉक डाउन 4 की अवधि आज समाप्त हो रही है। 1 जून से देशभर में लॉक डाउन खत्म कर दिया है। ऐसे में मुख्यमंत्री लॉक डाउन के बाद ही भोपाल से बाहर निकल रहे हैं।



भोपाल संवाददाता सुनील परमार _ आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने विश्व धूम्रपान निषेध दिवस पर सभी देशवासियों से  अपील की है। कि आज यह प्रण ले कि तंबाकू के सेवन से बचेंगे और दूसरों को भी तंबाकू के सेवन से होने वाले हानिकारक प्रभाव के बारे में अवगत कराकर स्वस्थ समाज के निर्माण में अपना योगदान देंगे।
नशा भले ही शान और लत के लिए किया जाता हो, पर यह जिंदगी की बेवक्त आने वाली शाम का भी मुख्य कारण है, जो कब जीवन में अंधेरा कर जाए, कुछ कहा नहीं जा सकता। आप इसका मजा भले ही दिनभर के कुछ सेकंड के लिए लेते हैं, लेकिन यह मजा, कब आपके लिए जिंदगी भर की सजा बन जाए, आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते। 
 पिछले कुछ सालों में भारत के साथ ही पूरे विश्व भर में धूम्रपान करने और उससे पीड़ित लोगों की संख्या में लगातार इजाफा हुआ है। इस गंभीर लत ने कई लोगों को मौत का ग्रास तक बना दिया।




उज्जैन ।  शनिवार की दोपहर पत्रकारों द्वारा कलेक्टर आशीष सिंह को ज्ञापन दैकर मांग की गई कि कार्य करते हुए किसी पत्रकार की मृत्यु होती है तो उसे कोरोना योद्धा  का दर्जा देकर 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाए एवं सभी मीडियाकर्मियों को इस दायरे मै लाया जाए ।मध्यप्रदेश शासन से मांग की गई है कि फ़ील्ड  में कार्य करने वाले पत्रकारों को गत दो माह से वेतन नहीं मिल रहा है इसलिए पांच-पांच हजार रूपए की आर्थिक सहायता तत्काल पत्रकारों को प्रदान की जाए ।सिटी प्रेस क्लब उज्जैन द्वारा मुख्यमंत्री के नाम यह ज्ञापन कलेक्टर को दिया गया। ज्ञापन देते समय बड़ी संख्या में पत्रकार उपस्थित थे।




उज्जैन 30 मई। उज्जैन जिले में कोरोना संक्रमण से लड़ाई अब निर्णायक दौर में पहुंच गई है। आज जिले में कुल 113 कोरोना पॉजीटिव मरीज ठीक होकर खुशी-खुशी अपने घर की ओर लौटे। आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज से 55 मरीज, पुलिस ट्रेनिंग सेन्टर से 56 मरीज व इन्दौर से दो मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज हो गये हैं। आरडी गार्डी एवं पीटीएस में वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में उल्लासपूर्ण वातावरण में ढोल-ढमाके के साथ ठीक हुए मरीजों का उत्साहवर्धन करते हुए घर भेजा गया। आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज से पूर्णत: स्वस्थ होकर जा रहे लोगों को संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा, आईडी श्री राकेश गुप्ता, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री मनोज सिंह ने पुष्पगुच्छ भेंट किये।
आरडी गार्डी एवं पुलिस ट्रेनिंग स्कूल से कोरोना से जंग जीतकर अपने घरों को जा रहे लोगों को वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा शुभकामनाएं दी गई। संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा ने स्वस्थ होकर जा रहे लोगों से उनका हालचाल पूछा तथा उन्हें आरडी गार्डी एवं पीटीएस में उपलब्ध कराई गई सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। संभागायुक्त व आईजी ने एहतियात के तौर पर आने वाले 7 से 14 दिनों तक लोगों को घर पर ही रहकर अपना समय बिताने तथा  सोशल डिस्टेंसिंग के पालन की हिदायत भी दी।
कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने कहा कि आज उज्जैन के लिये एक अच्छा दिन है कि जिले के 113 कोरोना पॉजीटिव मरीज एकसाथ ठीक होकर अपने घरों को लौट रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि उज्जैन जिले में रिकवरी रेट 60 प्रतिशत के ऊपर हो गया है। कलेक्टर ने कहा कि उज्जैन जिले के जो भी हॉटस्पाट है, वहां से अब कोरोना पॉजीटिव मरीज कम निकलकर आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिले में सर्वे के लिये लगाई गई टीम द्वारा निरन्तर सर्वे करके कोरोना के संदिग्ध मरीजों की पहचान की जा रही है एवं उनके सेम्पल लेकर जांच करवाई जा रही है, इस कारण से कोरोना संक्रमण के फैलाव पर प्रशासन द्वारा निरन्तर नजर है। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना के मरीजों की जल्दी पहचान से उनका उपचार भी शीघ्र प्रारम्भ हो रहा है, इस कारण से रिकवरी रेट में सुधार हुआ है। इस अवसर पर आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज में नोडल अधिकारी श्री एसएस रावत, डॉ.सुधीर गवारीकर, डॉ.सुधाकर वैद्य आदि मौजूद थे।
पीटीएस में इस अवसर पर अपने घरों को जा रहे लोगों ने प्रशासकीय अधिकारियों और चिकित्सकों का आभार व्यक्त किया और कोरोना वारियर्स के सम्मान में ताली बजाई। इस दौरान वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा भी स्वस्थ होकर जा रहे लोगों की हौसला अफज़ाई करते हुए तालियों की गड़गड़ाहट के साथ उन्हें अपने घरों के लिये विदा किया गया। उज्जैन के एक व्यक्ति ने कहा कि चिकित्सक दिन-रात उनकी सेवा में तत्पर थे। इलाज के दौरान पीटीएस में उनका और अन्य सभी का बहुत खयाल रखा गया।
पीटीएस के कोरोना वॉरियर्स जो दिन-रात मरीजों की सेवा में लगे रहे
इस दौरान पीटीएस में अपर कलेक्टर श्री अत्येंद्रसिंह गुर्जर, डॉ.एएस तोमर, एएसपी श्री अमरेंद्र सिंह, डॉ.अनमोल जैन, श्री दिलीप राठौर, डॉ.रोहित पराते, महिला एवं बाल विकास विभाग के श्री मनोज त्रिवेदी, श्री खेमराज चौहान, श्री हेमेंद्रसिंह राठौर, डॉ.विजय कुमार पांचाल, श्री गौतम अधिकारी, डॉ.वसीम खान, डॉ.अरविंद भटनागर, डॉ.रोहन कांठेड़, डॉ.महेन्द्र यादव, डॉ.एसके अखंड, डॉ.अनीता भिलवार, डॉ.विपट, डॉ.कपिल चौहान, डॉ.सुखदेव, डॉ.दीपक विश्वकर्मा, स्वास्थ्यकर्मी श्री एम्बरोज जॉर्ज, श्री रवि यादव, श्री प्रभाकर दास, श्री अमित यादव, श्री सावन कंडारे, श्री अरविंद सेठिया, सुश्री एंजेला जॉर्ज, सुश्री चन्दा गरूड़, श्री दिलीप राठौर, श्री पंकज तोमर, श्री ब्रजमोहन, श्री सुमेर चौहान, सफाईकर्मी श्री विनोद, श्री लोकेश तंबोली, श्री दीपक, श्री राहुल, श्री लखन, श्री आकाश और श्री भूरा मौजूद थे।
7 वर्ष से लेकर 75 वर्ष तक की उम्र के कोरोना पॉजीटिव मरीज स्वस्थ हुए
कोरोना वायरस के संक्रमण से डरने की आवश्यकता है। यह बात आज आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज, पुलिस ट्रेनिंग सेन्टर एवं इन्दौर से डिस्चार्ज होकर जा रहे कुल 113 मरीजों ने सिद्ध कर दी है। आज ठीक होकर जा रहे मरीजों में सात वर्ष की बालिका से लेकर 75 वर्षीय महिला भी शामिल है। डिस्चार्ज होकर घर जा रहे सभी मरीजों ने बताया कि उनकी देखभाल आरर्डी गार्डी मेडिकल कॉलेज एवं पीटीएस में बहुत ही अच्छे तरीके से की गई एवं उपचार भी अच्छा व समय पर मिला। इसी का परिणाम है कि वे आज स्वस्थ होकर घर जा रहे हैं।




भोपाल संवाददाता सुनील परमार _ सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वह भाजपा कार्यालय में अपने कार्यकर्ताओं के बीच कोरोना वायरस का मजाक उड़ाते  हुए दिखाई दे रहे हैं।इसी पर तंज कसते हुए आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने कहा कि शर्म करो शिवराज सिंह जहां मध्य प्रदेश में 7645 कोरोना संक्रमित, 334 मोते,और 100से अधिक मोते अजदुरो की हर तरफ लाश और शौक है। ऐसे में आप भाजपा कार्यालय में बैठकर ठहाके लगा रहे हो। प्रदेश के मुखिया का ऐसा आचरण असहनीय है।
                 
          मिर्ची बाबा ने कहा कि शिवराज की यह हसी तब की है। जब कुछ  देर पहले ही छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री एवं इंदौर के पूर्व कलेक्टर अजीत जोगी जी के निधन का समाचार आया था।
         क्या पद के अहंकार में कोई व्यक्ति इतना भी अमानवीय  हो सकता है। क्या ये गरीब मजदूरों की मौत का मजाक है।या सत्ता का अहंकार।




भोपाल _आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने पत्रकारों को हिंदी पत्रकारिता दिवस की शुभकामनाएं दी है मिर्ची बाबा ने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ की भूमिका में हिंदी पत्रकारिता ने अपने सामाजिक सरोकारों की पूर्ति और राष्ट्र निर्माण में सक्रिय योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बीच पत्रकारिता से जुड़े लोग अपनी जान जोखिम में डालकर देश के अंतिम व्यक्ति तक खबरें पहुंचा रहे हैं। मीडिया का कार्य बेहद सराहनीय है ।उन्होंने मीडिया के लोगों का उत्साह वर्धन करते हुए कहा कि भारतीय लोकतंत्र के विराट पटल पर हिंदी पत्रकारिता इसी तरह फले फूले इस कामना के साथ सभी पत्रकार बंधुओं को हिंदी पत्रकारिता दिवस की शुभकामनाएं।





भोपाल संवाददाता सुनील परमार _ आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने छत्तीसगढ़ के पूर्व एवं प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी जी के निधन पर शोक व्यक्त किया है उन्होंने कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा से लेकर राज्यसभा और फिर मुख्यमंत्री तक का सफर तय करने वाले श्री अजीत जोगी जी ने जनसेवा का अतुलनीय कीर्तिमान स्थापित किया है।
         

 ऐसे कठिन समय में मैं ईश्वर से दिवंगत आत्मा को शांति व शोकाकुल परिवार को यह दुख सहने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं। नमन एवं श्रद्धांजलि




ग्वालियर संवाददाता - मध्य प्रदेश मैं 24 विधानसभा सीटों पर चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस वही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी एवं राजा दिग्विजय सिंह के खास माने जाने वाले आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने चुनावी रणनीति को लेकर पूर्व सीएम कमलनाथ जी एवं छिंदवाड़ा सांसद नकुल नाथ जी से मुलाकात की।एवं आगामी उपचुनाव की चर्चा के दौरान कमलनाथ जी ने चंबल संभाग के प्रबल दावेदारों सूची तैयार करने की जिम्मेदारी मिर्ची बाबा को दी है।
मेहगांव विधानसभा से चुनाव लड़ने की बात पर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने बताया कि फिलहाल मेरी कोई इच्छा नहीं मेहगांव की जनता जिस पर विश्वास जताएगी कांग्रेस पार्टी से वही चुनाव लड़ेगा।और लगभग सभी सीटों पर सर्वे के आधार पर ही टिकट तय होंगे।





भोपाल संवाददाता सुनील परमार - आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने कहा कि भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के अग्रिम पंक्ति के सेनानी, प्रखर राष्ट्रवादी,महान क्रान्तिकारी, चिन्तक, लेखक,ओजस्वी वक्ता तथा दूरदर्शी राजनेता वीर' विनायक दामोदर सावरकर जी की जयंती पर उन्हें शत् शत् नमन। आपका तप, त्याग,तर्क, और राष्ट्र प्रेम हम सभी के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है।




भोपाल संवाददाता सुनील परमार - स्वतंत्र भारत के पहले और सबसे ज्यादा समय तक प्रधानमंत्री रहे पंडित जवाहरलाल नेहरु को उनकी पुण्यतिथि पर पूरा देश याद कर रहा है।
      इस दौरान आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने भी उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरु जी बहादुर स्वतंत्रता सेनानी, आधुनिक भारत के निर्माता और हमारे पहले प्रधानमंत्री थे। उन्होंने  देश को ऐसे बड़े संस्थान दिए जो वक्त पर हमारे काम आ सके।
      और धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू जी ने हमें एक स्वतंत्र लोकतंत्र दिया।उनकी तर्क संगतता ने हमें विकास की दिशा में आगे बढ़ने में मदद की और उनकी सहानुभूति प्रकृति ने हमें सहिष्णुता और भाईचारा सिखाया।

भोपाल संवाददाता

मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में विद्युत मंडल के अधिकारियों ने एक ठेकेदार कंपनी के साथ मिलकर किया लगभग 80 करोड़ का घोटाला। बेनकाब होंगे विद्युत मंडल के कई अधिकारी

इस पूरे घोटाले का खुलासा जल्द ही न्यूज़ 19 इंडिया पर




 ग्वालियर संवाददाता सुनील परमार - आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्म गुरु मिर्ची बाबा ने श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया के गुमशुदगी के पोस्टर लगाने की निंदा करते हुए कहा है।कि इस प्रकार की राजनीति  करना कदापि उचित नहीं है। इतने छोटे स्तर की राजनीति करना शर्मनाक है।
            मिर्ची बाबा ने कहा कि मैं श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया जी को बहुत करीब से जानता हूं।वह एक सिद्धांत वादी व्यक्ति है। उनके विचार कभी भी बदले की राजनीति के नहीं रहे हैं।वे निरंतर दिल्ली में बैठकर ही गरीबों, मजदूरों और जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं।इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री राहत कोष में 30 लाख रुपए भी दिए हैं। धर्मगुरु होने के नाते मैं सिंधिया जी के विचारों को बहुत करीब से जानता हूं। उनके द्वारा लिया गया हर निर्णय सही एवं उचित होता है। विपरीत परिस्थितियों में सही निर्णय लेने वाला ही राजा होता है






भोपाल संवाददाता सुनील परमार - नांदेड़ में हुई साधु की निर्मम हत्या पर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने इस हत्या पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि देश में साधु-संतों की निर्मम हत्या का एक खतरनाक ट्रेड चल रहा है नांदेड में शनिवार को जिस तरह आश्रम घुसकर एक लिंगायत साधु की हत्या हुई उसकी गहराई में जाना अति आवश्यक है। क्योंकि जिस प्रकार से साधुओं की हत्याएं हो रही है।यह एक सुनियोजित षड्यंत्र है।
       महाराज जी ने उद्धव सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि साधु संतों की भूमि कहे जाने वाले महाराष्ट्र में अब कोई भी साधु सन्यासी सुरक्षित नहीं है। क्योंकि महाराष्ट्र सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है।उन्हें देश के संतो की कोई चिंता नहीं है। और महाराष्ट्र सरकार से मांग की है कि साधुओं की हत्या के पीछे, के षडयंत्र की उच्च स्तर पर जांच की जाए।
       आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से प्रश्न करते हुए कहा कि क्या भारत के संतो की हत्याएं इसी प्रकार होती रहेगी? क्या सनातन धर्म की रक्षा करने वाले संत अब स्वयं ही सुरक्षित नहीं है।? इसके साथ ही महाराज जी ने महाराष्ट्र सरकार को चेतावनी दी है।की यदि जल्द ही कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो, लॉक डाउन खत्म होने के तुरंत बाद देश के सभी साधु संत एकत्रित होकर महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के खिलाफ एक बहुत बड़ा आंदोलन करेंगे
           इसके साथ ही आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने भारत सरकार से अपील की है कि जल्द ही साधु संतों की सुरक्षा के लिए कानून बनाया जाए जिससे संत समाज सुरक्षित हो सके।



मध्यप्रदेश में चुनाव की तैयारी जहां बीजेपी और कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता कर रहे हैं वहीं चुनाव मैदान में धर्मगुरु की चर्चाएं सामने आ रही है कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता पूर्व सीएम कमलनाथ एवं दिग्विजय सिंह के खास माने जाने वाले स्वामी वैराग्य नंद उर्फ मिर्ची बाबा का भी नाम सुर्खियों में है  आध्यात्मिक शक्ति और आध्यात्मिक गुरुओं की कांग्रेस पार्टी को उच्च शिखर पर ले जाने की एक भूमिका सदैव रही है इसी में से आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी महाराज धर्मगरू जिनकी जन्म भूमि डांग बी‌‌डखरी भिंड जिले में है और मेहगांव विधानसभा से बड़े-बड़े दिग्गज नेता मैदान में अपना अपना भाग्य आजमा रहे हैं इसी बीच आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी महाराज मिर्ची बाबा से हमारे संपादक ने बात की क्या आप मेहगांव विधानसभा से चुनाव लड़ेंगे आपका भी नाम चल रहा है स्वामी जी ने बताया अगर संत समाज चाहता  है और मेहगांव की संपूर्ण जनता जनार्दन चहाती है की मेहगांव का प्रतिनिधित्व स्वामी जी करें तो फिर देखूंगा बाकी फिलहाल मेरी कोई इच्छा नहीं है श्रीमान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी जो निर्णय लेंगे वह सभी मान्य करेंगे दिग्विजय सिंह स्वयं ही विवेक साली हैं फिलहाल कांग्रेस को एक कदम धर्म का सम्मान करते हुए आध्यात्मिक धर्म गुरुओं को राजनीति में लाना चाहिए धर्मगुरु राजनीति मैं अगर कांग्रेस लाती है तो बीजेपी को परास्त करने में इन्हें एक बहुत बड़ी विजय मिलेगी भारत के धर्मगुरु सभी धर्मो का पालन करते हैं आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी महाराज जनता के हितेषी रहे हैं इसलिए वह गौ सेवा पूर्णरूपेण करते हैं समय-समय पर कन्याओं की शादी भी कराई है और कोरोना जैसी महामारी में प्रतिदिन गरीबों की भी सेवा कर रहे हैं अंतः हमेशा सेवा करते रहेंगे जय हिंद जय भारत मेहगांव की जनता चहाती है अबकी बार हमारे यहां से कोई धर्मगुरु चुनाव लड़े क्योंकि नेताओं को तो बहुत बार वोट देकर हम धोखा खा चुके हैं इस बार किसी धर्म गुरु पर विश्वास करना चाहते हैं




भोपाल संवाददाता सुनील परमार  आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने भारत रत्न एवं पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की है। इस अवसर पर मिर्ची बाबा ने कहा कि भारत रत्न राजीव गांधी को उनकी शहादत दिवस पर मेरी विनम्र श्रद्धांजलि। वह एक दूरदर्शी नेता थे, जिनके प्रगतिशील आधुनिक एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण ने राष्ट्र को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया।

       उन्होंने कहा कि उनके बलिदान और राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता।उन्होंने कहा कि जैसा कि राष्ट्रीय श्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि को आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में मना कर उन्हें श्रद्धांजलि देता है।
इस मौके पर हमें आतंकवाद और हिंसा के सभी रूपों का विरोध करने एवं समाज में शांति और सामाजिक सद्भाव को बढ़ावा देने का संकल्प लेना चाहिए 

उन्होंने आतंकवाद विरोधी दिवस पर उन सभी बहादुर पुरुषों और महिलाओं को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। जिन्होंने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अपनी जान कुर्बान कर दी या आतंकवादी हमलों का शिकार हुए आतंकवाद मानवता और वैश्विक शांति के लिए खतरा है सभी देशों को इसके खिलाफ एक साथ आना चाहिए।




भोपाल संवाददाता सुनील परमार - आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने शिवराज सरकार पर निशाना लगाते हुए कहा है।कि आज हमारा देश वैश्विक महामारी कोरोना से जूझ रहा है।वहीं मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार द्वारा उपचुनाव की तैयारियां की जा रही है।प्रदेश की जनता कोरोना से लड़ रही है।और यह पद व टिकट के लिए लड़ रहे हैं।क्या यही है इनकी संवेदनशीलता? इन्हें जनसेवा नहीं सत्ता की भूख है इन्हें कोरोना से प्रदेशवासियों को नहीं बचाना है, इन्हें पहले खुद की सरकार को बचाना है। कोरोना जैसी महामारी में भी पद बांटे जा रहे हैं जवाबदारी कोरोना से निपटने की नहीं, उपचुनाव जिताने की दी जा रही है। 
       आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने कहा कि शिवराज सरकार उपचुनाव जीतने के लिए सिर्फ घोषणाएं कर रही हैं। झूठे वादे कर रही है। प्रदेश की भोली-भाली जनता को गुमराह कर रही है। शिवराज सिंह आए दिन वीडियो कॉन्फ्रेंस के द्वारा मजदूरों के लिए सिर्फ घोषणाएं कर रहे हैं किंतु धरातल पर कुछ और ही देखने को मिलता है। आए दिन मजदूरों की सड़क हादसे मैं मरने की खबर मिल रही है। गरीब मजदूर महिला सड़क पर अपने बच्चे को जन्म देती है। लाखों की संख्या में मजदूर आज भी सड़कों पर पैदल चल रहे हैं। जबकि आज आवश्यकता है।कोरोना प्रभावित इलाकों में एवं प्रदेश के मार्गो व सीमाओं पर जाकर भूखे प्यासे मजदूरों से मिलकर उनका दर्द जानने की, लेकिन जा रहे हैं अपने कार्यालय उप चुनाव की तैयारियों के लिए, चुनाव जीतने की रणनीति बनाने के लिए, शिवराज सरकार प्रदेशवासियों को भगवान भरोसे छोड़कर सिर्फ उपचुनाव की रणनीति बनाने में व्यस्त है।





 भोपाल संवाददाता सुनील परमार __मध्य प्रदेश के सागर के दलबतपुर में मजदूरों को लेकर जा रही एक ट्रैक्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गई. इस हादसे में 5 मजदूरों की मौत हो गई है, जबकि 20 मजदूर घायल हो गए हैं. इस भीषण सड़क हादसे पर दुख जाहिर करते हुए। आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने शिवराज सरकार को इसका जिम्मेदार ठहराया है। और कहा है कि सरकार आंख मूंद कर बैठी है। या तो सरकार को कुछ दिख नहीं रहा है। यह सब कुछ देखकर अनजान बनी हुई है क्या सरकार का काम सिर्फ बयानबाजी करना ही रह गया है।
              मिर्ची बाबा ने कहां की मजदूरों की मांग बस इतनी है कि घर पहुंचा दो। फिर इतनी संवेदनशीलता क्यों।आज फिर गरीब प्रवासियों के हिस्से में लूटपाट, पुलिस की पिटाई, फटकार, अपमान, भूख व दुर्घटनाएं हैं।और मांग सिर्फ यह है। कि घर पहुंचा दो। आखिर सरकार क्या सोचकर इन मजदूरों के घर जाने की समुचित व्यवस्था नहीं कर रही है? प्रदेश के अंदर मजदूरों को ले जाने के लिए बसें क्यों नहीं चलाई जा रही है।
           आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने शिवराज सरकार से घायलों के समुचित इलाज और सभी मृतकों के परिवार वालों को आर्थिक सहायता देने की मांग की है।साथ ही अनुरोध किया है कि आपातकाल स्थिति में लोगों के आवागमन हेतु ईपास की समुचित व्यवस्था करें।और संबंधित अधिकारियों को ईमानदारी से काम करने के निर्देश दें




ग्वालियर संवाददाता पीएम नरेंद्र मोदी जी के 20 लाख करोड़ के पैकेज की घोषणा पर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने कहा कि आज भी भारत के कई गरीब भूख से बिलख रहे है।मजदूर रोड पर हजारों  किलोमीटर पैदल चल रहा है।अभी तक प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार द्वारा कोई उचित व्यवस्था नहीं की गई। गरीब मजदूरों को पुलिस द्वारा सड़क पर पीटा जा रहा है। लेकिन सरकार हो कोई फर्क नहीं पड़ता है।गरीब की परिभाषा गरीब ही जनता है।
   आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने कहां है की क्या माननीय देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने जो घोषणा की है क्या उस घोषणा से गरीब को पहनने को कपड़ा मिलेगा, पैरों में चप्पल पहनने को मिलेगी और भारत के उन संतो का क्या जो हर समय मोदी मोदी का गुणगान करते रहते हैं।
      एक समय था जब हर हर मोदी घर घर मोदी का नारा लगाया जाता था। किंतु आज हर  गरीब सिर्फ सरकार को कोस रहा है। क्योंकि हर वस्तु के दाम दुगने हो गए हैं। महंगाई प्रतिदिन आसमान छू रही है। ऐसे में सरकार गरीबों को मास्क तक भी उपलब्ध नहीं करा पा रही है।और ऐसे ऐलान पहले भी कई बार हो चुके हैं।किंतु इसमें गरीब मजदूरों का कोई फायदा नही हुआ है।और जहां लॉक डॉउन की वजह से देश में रोजगार मिलना ही मुश्किल हो गया है ऐसे में आर्थिक पैकेज मजदूरों तक केसे पहुंचेगा।यदि इन आर्थिक पैकेजों का लाभ मजदूरों को मिलता तो मजदूर कभी घर छोड़कर बाहर नहीं जाता






उज्जैन 14 मई आज जहा पूरा देश कोरोना वायरस से जूझ रहा है।लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं।जनजीवन अस्त व्यस्त हैं।ऐसे में ऑनलाइन प्राइवेट फाइनेंस कंपनी के अधिकारी कोर्ट के आदेश को भी ताक पर रखकर लगातार ग्रहाको को emi के लिए धमकी दे रहे हैं।

ऐसा ही एक इन ऑनलाइन फाइनेंस कंपनी से प्रताड़ित व्यक्ति संदीप ने बताया कि गूगल प्ले स्टोर पर ऐसी बहुत सारी कंपनियां है।जो 1000 से लगाकर 50000तक का लोन सिर्फ आधार कार्ड और पैनकार्ड पर देती हैं।बदले में तगड़ा बियाज वसूल करती हैं।और यदि कोई ग्राहक emi चूक जाता है तो उस पर प्रतिदिन 100से 500तक ब्याज वसूल करती है।उन्होंने बताया कि उन्होंने भी ऐसी एक कंपनी से लोन लिया था और लॉक डॉउन के कारण समय से चुका नहीं पाए तो अब कंपनी से लगातार धमकी भरे फोन आ रहे है। फाइनेंस वाले धमकी दे रहे है।की यदि आज ही लोन नहीं चुकाया तो तुम्हारे मोबाइल में जितने भी कॉन्टैक्ट नंबर है उन सारे नंबर पर कॉल करके तुझे बदनाम कर देगें।और तेरे घर किश्त लेने पुलिस वालों को भेजेंगे।
संदीप ने बताया की उनके व्हाट्सएप पर मैसेज आया था जिसमें फाइनेंस कंपनी के अधिकारी ने उनसे तू तड़ाके से और बहुत ही बदतमीजी से बात की।ऐसे में संदीप ने उक्त कंपनी के खिलाफ एसपी से मदद की गुहार लगाई है।




गवालियर संवाददाता सुनील परमार 13 मई
आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा एकमात्र ऐसे संत हैं जो मानव सेवा के साथ-साथ पशु पक्षियों की भी भोजन कराकर प्रतिदिन सेवा कर रहे हैं। महाराज जी प्रतिदिन अलग-अलग गौशालाओं से लेकर वानरों तक खाना पहुंचाने का काम इन दिनों कर रहे हैं वे रोजाना अलग-अलग स्थानों में जाकर बेजुबानों का पेट भर रहे हैं। वे नित्य केले के साथ-साथ गुड़ और चना वानरों को खिला रहे हैं।
इसके साथ ही वो गौशालाओं में जाकर गौ माता को चारा खिलाने का भी कर रहे हैं। महाराज जी के शिष्य ने बताया कि वह प्रतिदिन अलग-अलग स्थानों पर जा रहे हैं।ताकि कोई भी पशु भूखा ना रहे।
आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने कहा है।कि शास्त्रों में हनुमान जी को प्रसन्न करने के कई उपाय बताए गए हैं। इन्हीं उपायों में से एक उपाय हैं वानरों को गुड़ चना खिलाना। यदि भक्त वानरों को गुड़ चना खिलाता है तो उसके सारे दोष दूर हो जाते हैं रुके हुए कार्य पूर्ण होने लगते हैं और भाग के साथ देने लगता है वानर को गुड़ चना खिलाने से हनुमान जी प्रसन्न होते हैं क्योंकि स्वयं बजरंगबली को वानर रूप में ही पूजा जाता है।
        आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा भी वानरों गुड चना एवं केले खिलाकर इस वैश्विक महामारी कोरोना से देश को बचाने के लिए बजरंगबली से प्रार्थना कर रहे हैं।



उज्जैन 12 मई। कोरोना वायरस से संक्रमित 16 मरीज आज आरडी गार्डी मेडिकल हॉस्पिटल से ठीक होकर अपने-अपने घर गये। जिले में अब तक कुल 132 कोरोना पॉजीटिव मरीज ठीक होकर अपने घर चले गये हैं। अब केवल 87 मरीज भर्ती है, जिनका उपचार जारी है। जिले में कोरोना वायरस से होने वाली मृत्यु की दर में भी भारी कमी आई है। विगत नौ दिनों में केवल एक मरीज की मृत्यु हुई है। आरडी गार्डी से ठीक होकर घर जा रहे मरीजों के लिये पूर्व मंत्री एवं विधायक श्री पारस जैन, विधायक डॉ.मोहन यादव एवं महापौर श्रीमती मीना जोनवाल, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री मनोज सिंह ने ताली बजाकर उनका हौसला बढ़ाया एवं अभिवादन किया। विधायक श्री पारस जैन, डॉ.मोहन यादव एवं महापौर श्रीमती मीना जोनवाल ने सभी मरीजों को भगवान महाकालेश्वर के चित्र भेंट किये तथा शुभकामनाएं दी।
ठीक होकर जा रहे मरीजों से विधायकगण एवं महापौर ने व्यक्तिश: चर्चा की तथा आरडी गार्डी की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। सभी मरीजों ने एक सुर में बताया कि आरडी गार्डी की व्यवस्थाएं बेहतरीन है एवं यहां के डॉक्टरों के उपचार एवं खानपान की सुविधाओं के चलते ही वे आज स्वस्थ होकर घर जा रहे हैं। आरडी गार्डी से जिन कोरोना पॉजीटिव मरीजों को आज स्वस्थ होने पर घर भेजा गया, उनमें 45 वर्षीय सुश्री शमीनाबी, 75 वर्षीय श्री रमेशचन्द्र, 40 वर्षीय श्री मनोज देवड़ा, 15 वर्षीय श्री ऋषभ देवड़ा, 51 वर्षीय श्री संजय राठौर, 25 वर्षीय श्री राकेश, 40 वर्षीय श्री कमल, 35 वर्षीय श्रीमती किरण, 7 वर्षीय बालक लवेश मकवाना, 35 वर्षीय श्री ललित मकवाना, 60 वर्षीय श्रीमती सुमित्रा सोनी, 15 वर्षीय कु.मानवी सोनी, 14 वर्षीय कु.प्रज्ञा सोनी, 45 वर्षीय श्रीमती मनीषा महाडिग, 65 वर्षीय श्रीमती सरला देवड़ा तथा 60 वर्षीय श्रीमती कलाबाई शामिल हैं।
मरीजों से चर्चा करते हुए विधायक श्री पारस जैन ने कहा कि सभी मरीज घर जाकर योग आदि निरन्तर करते रहें एवं पौष्टिक भोजन करें, जिससे कि उनकी सेहत में तेजी से सुधार हो। विधायक डॉ.मोहन यादव ने कहा कि आरडी गार्डी की व्यवस्थाएं निश्चित रूप से बहुत अच्छी हो गई हैं, यहां के योग्य चिकित्सकों एवं स्टाफ के द्वारा निरन्तर निस्वार्थ भावना से सेवा की जा रही है, इसी कारण यहां से बड़ी संख्या में मरीज अच्छे होकर घर जा रहे हैं। महापौर श्रीमती मीना जोनवाल ने घर जा रही सभी महिलाओं से उनकी कुशलक्षेम पूछी एवं निरन्तर उन्हें स्वास्थ्य की देखभाल करने का आव्हान किया। उल्लेखनीय है कि आरडी गार्डी में चिकित्सा व्यवस्था देख रहे डॉ.हर्ष पस्तोर, डॉ.एसएस सथुआ, डॉ.रवीन्द्र शर्मा व डॉ.मनोज बघेल की भी ताली बजाकर हौसला अफजाई की गई।
आज कुल 24 कोरोना पॉजीटिव मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे
नोडल अधिकारी अपर कलेक्टर श्री एसएस रावत ने बताया कि आज 12 मई को बड़ी संख्या में कोरोना पॉजीटिव मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे हैं। इनमें 16 मरीज आरडी गार्डी से, 4 मरीज पुलिस ट्रेनिंग सेन्टर से एवं 4 मरीज इन्दौर अरबिंदो से ठीक होकर अपने-अपने घर पहुंचे हैं।




1. गौ माता जिस जगह खड़ी रहकर आनंदपूर्वक चैन की सांस लेती है । वहां वास्तु दोष समाप्त हो जाते हैं ।

2. जिस जगह गौ माता खुशी से रभांने लगे उस जगह देवी देवता पुष्प वर्षा करते हैं ।

3. गौ माता के गले में घंटी जरूर बांधे ; गाय के गले में बंधी घंटी बजने से गौ आरती होती है ।

4. जो व्यक्ति गौ माता की सेवा पूजा करता है उस पर आने वाली सभी प्रकार की विपदाओं को गौ माता हर लेती है ।

5. गौ माता के खुर्र में नागदेवता का वास होता है । जहां गौ माता विचरण करती है उस जगह सांप बिच्छू नहीं आते ।

6. गौ माता के गोबर में लक्ष्मी जी का वास होता है ।

7. गौ माता कि एक आंख में सुर्य व दूसरी आंख में चन्द्र देव का वास होता है ।

8. गौ माता के दुध मे सुवर्ण तत्व पाया जाता है जो रोगों की क्षमता को कम करता है।

9. गौ माता की पूंछ में हनुमानजी का वास होता है । किसी व्यक्ति को बुरी  नजर हो जाये तो गौ माता की पूंछ से झाड़ा लगाने से नजर उतर जाती है ।

10. गौ माता की पीठ पर एक उभरा हुआ कुबड़ होता है , उस कुबड़ में सूर्य  केतु नाड़ी होती है । रोजाना सुबह आधा घंटा गौ माता की कुबड़ में हाथ फेरने  से रोगों का नाश होता है ।

11. एक गौ माता को चारा खिलाने से तैंतीस कोटी देवी देवताओं को भोग लग जाता है ।

12. गौ माता के दूध घी मख्खन दही गोबर गोमुत्र से बने पंचगव्य हजारों रोगों की दवा है । इसके सेवन से असाध्य रोग मिट जाते हैं ।

13. जिस व्यक्ति के भाग्य की रेखा सोई हुई हो तो वो व्यक्ति अपनी हथेली  में गुड़ को रखकर गौ माता को जीभ से चटाये गौ माता की जीभ हथेली पर रखे  गुड़ को चाटने से व्यक्ति की सोई हुई भाग्य रेखा खुल जाती है ।

14. गौ माता के चारो चरणों के बीच से निकल कर परिक्रमा करने से इंसान भय मुक्त हो जाता है ।

15. गौ माता के गर्भ से ही महान विद्वान धर्म रक्षक गौ कर्ण जी महाराज पैदा हुए थे।

16. गौ माता की सेवा के लिए ही इस धरा पर देवी देवताओं ने अवतार लिये हैं ।

17. जब गौ माता बछड़े को जन्म देती तब पहला दूध बांझ स्त्री को पिलाने से उनका बांझपन मिट जाता है ।

18. स्वस्थ गौ माता का गौ मूत्र को रोजाना दो तोला सात पट कपड़े में छानकर सेवन करने से सारे रोग मिट जाते हैं ।

19. गौ माता वात्सल्य भरी निगाहों से जिसे भी देखती है उनके ऊपर गौकृपा हो जाती है ।

20. काली गाय की पूजा करने से नौ ग्रह शांत रहते हैं । जो ध्यानपूर्वक  धर्म के साथ गौ पूजन करता है उनको शत्रु दोषों से छुटकारा मिलता है ।

21. गाय एक चलता फिरता मंदिर है । हमारे सनातन धर्म में तैंतीस कोटि देवी  देवता है ,हम रोजाना तैंतीस कोटि देवी देवताओं के मंदिर जा कर उनके दर्शन  नहीं कर सकते पर गौ माता के दर्शन से सभी देवी देवताओं के दर्शन हो जाते  हैं ।

हे मां आप अनंत ! आपके गुण अनंत ! इतना मुझमें सामर्थ्य नहीं कि मैं आपके गुणों का बखान कर सकूं ।

*अधूरा ज्ञान खतरनाक होता है।*

*33 करोड नहीँ 33 कोटी देवी देवता हैँ हिँदू*
*धर्म मेँ।*

कोटि = प्रकार।
*देवभाषा संस्कृत में कोटि के दो अर्थ होते है,*

*कोटि का मतलब प्रकार होता है और एक अर्थ करोड़ भी होता।*

*हिन्दू  धर्म का दुष्प्रचार करने के लिए ये बात उडाई गयी की हिन्दुओ के 33 करोड़  देवी देवता हैं और अब तो कुछ मुर्ख लोग खुद ही गाते फिरते हैं की हमारे 33  करोड़ देवी देवता हैं...*

*कुल 33 प्रकार के देवी देवता हैँ हिँदू धर्म मे 😗

*12 प्रकार हैँ*
*आदित्य , धाता, मित, आर्यमा,*
*शक्रा, वरुण, अँश, भाग, विवास्वान, पूष,*
*सविता, तवास्था, और विष्णु...!*

*8 प्रकार हे 😗
*वासु:, धर, ध्रुव, सोम, अह, अनिल, अनल, प्रत्युष और प्रभाष।*

*11 प्रकार है 😗
*रुद्र: ,हर,बहुरुप, त्रयँबक,*
*अपराजिता, बृषाकापि, शँभू, कपार्दी,*
*रेवात, मृगव्याध, शर्वा, और कपाली।*

*एवँ*
*2 प्रकार हैँ अश्विनी और कुमार।*

*कुल :- 12+8+11+2=33 कोटी*

जय गाय माता की 

 जय श्री कृष्णा




  शासकीय एवं प्राइवेट एजेंसियां इस समय अलग नहीं एक यूनिट  बनकर काम  करें तभी कोरोना से लड़ाई जीत सकेंगे- कलेक्टर

 उज्जैन 11 मई ।संभागायुक्त श्री आनंद कुमार शर्मा  एवं कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने आज मेला कार्यालय में संयुक्त रूप से शहर के निजी नर्सिंग होम  संचालकों  एवम निजी  चिकित्सा विशेषज्ञ   डॉक्टर्स की बैठक लेकर उनसे  कोरोनावायरस से लड़ाई में एकजुट होकर सहयोग करने का आह्वान किया.
     संभागायुक्त  श्री  आनंद कुमार शर्मा ने कहा कि सभी चिकित्सालय चाहे वह शासकीय हो या निजी मिलकर काम करें। उन्होंने निजी चिकित्सकों एवं नर्सिंग होम संचालकों का आह्वान किया कि यह उनका अपना शहर है। यहां के डॉक्टर न केवल उज्जैन शहर बल्कि आसपास के जिलों के मरीजों को भी देखते रहे हैं ।इस कठिन दौर में उन पर बड़ी जिम्मेदारी आ गई है ।सभी को मिलकर अपना सर्वश्रेष्ठ देना होगा ।  उन्होंने कहा कि किसी भी मरीज का उपचार करने से नर्सिंग होम में मना नहीं किया जाए ।कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों को स्टेबल होने तक संबंधित निजी नर्सिंग होम में उपचार किया जाए तथा अत्यधिक आवश्यकता होने पर ही उन्हें रेड हॉस्पिटल माधव नगर अथवा  आरडी गार्डी हॉस्पिटल में शिफ्ट किया जाए । शिफ्ट करने की अनुशंसा के  लिए जिला प्रशासन द्वारा निजी डाक्टरों की  टीम गठित की गई  है । संभागायुक्त ने कहा है कि निजी नर्सिंग होम में भर्ती कोविड-19 के संदिग्ध पेशेंट की देखभाल गंभीरता से हो यह सुनिश्चित किया जाए तथा रात्रि में भी उनके स्वास्थ्य का परीक्षण  हो  यह  सुनिश्चिर करने के लिए विशेषज्ञों  राउंड लेना  चाहिए ।     
           संभागायुक्त ने कहा है कि आपातकाल में डॉक्टर्स अपना धर्म निभाते हुए  सबसे  पहले   मरीज का उपचार करें ।उन्होंने कहा कि सभी चिकित्सक अपनी सीमाओं से आगे बढ़कर कार्य करें और शहर को संक्रमण से बचाएं ।संभागायुक्त ने आश्वस्त किया कि निजी नर्सिंग होम में भर्ती गर्भवती माताओं के सैंपल प्राथमिकता के आधार पर परीक्षण किए जाएंगे ।

        बैठक में कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा निजी चिकित्सकों में से ही एक टीम बनाई है जो  रेफरल  संबंधित  सभी समस्याओं का हल करते हुए संभावित  कोविड 19 पेशेंट्स को रेफर करने  की  अनुशंसा करेगी । कलेक्टर ने कहा कि इस संकट के समय में  सरकारी और निजी चिकित्सक अलग-अलग नहीं है ।सभी एक मशीन के पुर्जे की तरह कार्य करेंगे ।  उन्होंने बताया कि पहले से अब कोरोनावायरस की रिपोर्ट आने में कम समय लग रहा है । 24 से 36 घंटे में ही   रिपोर्ट आ  रही है इससे कोविड 19  मरीजों  की  पहचान आसान हो गई है । कलेक्टर ने सभी नर्सिंग होम संचालकों से कहा कि वे अपने यहां तीन से चार बेड का आइसोलेशन वार्ड तैयार करें जहां पर संदिग्ध कोरोना मरीजों का उपचार किया जाए । इन मरीजो को  स्टेबल करने के बाद ही रेफरल टीम के सदस्य   की  अनुमति प्राप्त होने के बाद रेड हॉस्पिटल माधव नगर अथवा  आरडी  गार्डी   मेडिकल  कॉलेज में शिफ्ट किया जाए। उन्होंने कहा कि रेफरल करने के पहले प्रत्येक मरीज की हिस्ट्री तैयार की जाए जिससे  संबंधित रेड  हॉस्पिटल में उनका इलाज करने में आसानी होगी ।कलेक्टर ने कहा कि यथासंभव रात में किसी भी मरीज को  रेड हॉस्पिटल में  शिफ्ट नहीं किया जाए जब तक की बहुत ज्यादा इमरजेंसी ना हो ।साथ ही उन्होंने कहा कि रेड  हॉस्पिटल में पेशेंट को भेजने के पहले  रेड हॉस्पिटल के प्रभारी से आवश्यक चर्चा कर ली जाए जिससे कि मरीज को भर्ती करने  में  विलंब  न  हो ।


       बैठक में अपर कलेक्टर एवं   नोडल अधिकारी क्षितिज सिंघल ने सभी निजी चिकित्सालयो एवम नर्सिंग होम के  विशेषज्ञों को बताया कि प्रत्येक ग्रीन हॉस्पिटल में बेसिक स्क्रीनिंग की जाना आवश्यक है। ऐसे मरीजों के बुखार, ऑक्सीजन लेवल आदि की जांच कर उन्हें पृथक आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया जाना है ।प्रत्येक ग्रीन हॉस्पिटल को एक अलग से तीन से चार बेड का आइसोलेशन वार्ड तैयार करना होगा। जिसमें स्टाफ आदि को पर्याप्त पीपीई  किट  एवं सुरक्षा सामग्री प्रदान की जाए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में  जिले  में  3 लाइफ सपोर्ट सिस्टम के साथ  एम्बुलेंस  उपलब्ध  है ।उन्होंने कहा कि मरीज को स्टेबल करने के बाद ही रेड हॉस्पिटल में भेजने का प्रोटोकॉल निर्धारित किया गया है इसका अनिवार्य रूप से पालन किया जाए। यह प्रोटोकॉल इसलिए तैयार किया गया है  ताकि  गंभीर मरीजों को शिफ्ट करने के दौरान कोई हानि ना हो।
      बैठक में डॉक्टर विजय गर्ग डॉ  विमल गर्ग , डॉ  घनश्याम शर्मा, डॉ कात्यायन मिश्रा ,डॉ तपन शर्मा, डॉक्टर नीलेश शर्मा, डॉक्टर श्रीपाल देशमुख, डॉक्टर  ब्रजेन्द्र कुमार ,डॉ राहुल तेजनकर डॉक्टर राजेंद्र बंसल, डॉ पीएम कुमावत, डॉ एसएस गुप्ता, डॉक्टर एम अख्तर, डॉ हर्ष मंगल , डॉ  रविन्द्र  श्रीवास्तव,डॉक्टर चिराग देसाई ,डॉक्टर सीवी अब्राहिम, डॉक्टर रवि जैन ,डॉ अमित भार्गव ,  फादर  एंथोनी  ,  फादर  कुरियन ,सहित आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज ,संजीवनी हॉस्पिटल, तेजनकर हॉस्पिटल ,गुरु नानक हॉस्पिटल, ईएसआई हॉस्पिटल ,जेके नर्सिंग होम ,सहर्ष हास्पिटल ,उज्जैन  हार्ट  हॉस्पिटल के संचालक गण मौजूद थे ।



उज्जैन 11 मई। उज्जैन उत्तर विधायक श्री पारस जैन ने सोमवार को आयुष विभाग के तत्वावधान में जीवन अमृत योजना अन्तर्गत त्रिकटु चूर्ण काढ़ा का विभिन्न गलियों में घर-घर जाकर वितरण किया। उल्लेखनीय है कि त्रिकटु चूर्ण काढ़ा कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्ति में तथा व्यक्ति में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक है। त्रिकटु चूर्ण काढ़ा वितरण के दौरान आयुर्वेदिक महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.जेपी चौरसिया, अधीक्षक डॉ.ओपी शर्मा एवं डॉ.हेमन्त मालवीय तथा आयुर्वेदिक महाविद्यालय की टीम उपस्थित थी। सभी ने त्रिकटु चूर्ण काढ़ा का वितरण करने में सहयोग प्रदान किया।
महाकाल मन्दिर के कर्मचारी कल्याण संघ द्वारा अन्नक्षेत्र में 25 तेल के डिब्बे दान में दिये गये

उज्जैन 11 मई। श्री महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति द्वारा संचालित नि:शुल्क अन्नक्षेत्र में कोरोना महामारी के मद्देनजर लॉकडाउन के दौरान भोजन के पैकेट तैयार कर वितरण हेतु संस्थाओं के माध्यम से निर्धन गरीब परिवारों में प्रतिदिन उपलब्ध कराये जा रहे हैं। नि:शुल्क अन्नक्षेत्र से प्रतिदिन लगभग ढाई हजार भोजन पैकेट तैयार कर वितरण किये जा रहे हैं। श्री महाकालेश्वर मन्दिर के कर्मचारी कल्याण संघ द्वारा आज सोमवार 11 मई को नि:शुल्क अन्नक्षेत्र में 15 लीटर के 25 डिब्बे दान में भेंट किये गये हैं। कर्मचारी कल्याण संघ के पदाधिकारियों ने उक्त 25 डिब्बे तेल के मन्दिर के सहायक प्रशासक श्री चन्द्रशेखर जोशी को भेंट किये। इस आशय की जानकारी सहायक प्रशासक श्री चन्द्रशेखर जोशी ने दी और बताया कि भोजन निर्माण कर पैकेट तैयार कर गरीबों को वितरण के लिये रक्तनीड, वी केयर एवं अथर्व संस्थाओं के माध्यम से वितरण कराये जा रहे हैं। मन्दिर के कर्मचारियों द्वारा मन्दिर के आसपास एवं नृसिंह घाट क्षेत्र में गरीबों को स्वयं 400 पैकेट भी भोजन के वितरण किये जाते हैं।



उज्जैन 11 मई। सोमवार को मक्सी रोड स्थित पीटीएस से नौ लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से पूर्णत: स्वस्थ होकर अपने-अपने घरों को गये। इस दौरान 65 वर्षीय मो.हुसैन पिता मो.इब्राहिम ने पीटीएस में इलाज के दौरान बिताये गये दिनों का अनुभव साझा करते हुए कहा कि यहां इलाज के दौरान उन्हें घर से ज्यादा अच्छी सुविधाएं मिली हैं। अफसोस सिर्फ इस बात का था कि वे काफी दिनों से अपने बच्चों को देख नहीं पाये थे। आज जब वे कोरोना से जंग जीतकर पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने बच्चों को जब देखेंगे, ये सोचकर ही मो.हुसैन की आंखों से खुशी के आंसू झलक गये। उन्होंने कहा कि वे प्रशासन और स्वास्थ्यकर्मियों का दिल से शुक्रिया अदा करते हैं कि उन्होंने बिलकुल परिवार के सदस्य की तरह न सिर्फ उनका ख्याल रखा बल्कि कोरोना जैसी बीमारी से लड़ने में उनकी हौसला अफज़ाई भी की।
अपर कलेक्टर श्री अत्येन्द्रसिंह गुर्जर एवं अन्य चिकित्सकों द्वारा मो.हुसैन के साथ ठीक होकर जा रहे अन्य लोगों से भी पीटीएस में उनके अनुभव के बारे में पूछा गया तथा शुभकामनाएं देकर लोगों को अपने घरों के लिये विदा किया। 
एक अन्य तीन वर्षीय बच्ची नूरी फातिमा पिता मो.तारीश ने बिते दिनों पीटीएस में रहकर अपनी मासूमियत से सभी स्वस्थ्यकर्मियों का दिल जीत लिया था। आज जब वह पूरी तरह ठीक होकर अपने घर जा रही थी तो विदा लेते समय स्वास्थ्यकर्मियों के लिये यह एक भावुक पल था जब डॉक्टर द्वारा नूरी फातिमा को प्रमाण-पत्र दिया गया तब उसने बस में बैठते हुए सभी चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों को हाथ हिलाकर अभिवादन दिया।
डॉ.महेन्द्रसिंह यादव और अपर कलेक्टर श्री अत्येंद्रसिंह गुर्जर द्वारा ठीक होकर जा रहे लोगों को प्रमाण-पत्र दिये गये तथा उन्हें एहतियात के तौर पर 14 दिन के लिये अपने-अपने घरों में सेल्फ क्वारेंटाईन होने के लिये कहा गया तथा सार्थक एप डाउनलोड करने की हिदायत भी दी गई।
पूर्णत: स्वस्थ होकर सोमवार को पीटीएस से अपने घरों के लिये रवाना हुए लोगों में उक्त दो लोगों के अलावा 26 वर्षीय शाईमा पति इरफान, 60 वर्षीय सबाराबी पति मो.हुसैन, 33 वर्षीय हेमलता गुप्ता पति रविकृष्ण गुप्ता, सचिन गुप्ता पिता कृपादास गुप्ता, परवीन पति तारीश, 48 वर्षीय जुल्फिकार पिता हकीमउद्दीन और 45 वर्षीय जमील कुरैशी पिता फाजिल कुरैशी शामिल थे। इस दौरान डॉ.एएस तोमर, डॉ.दीपक विश्वकर्मा, डॉ.एसके अखंड, डॉ.रोहन कांठेड़, स्वास्थ्यकर्मी श्री एम्बरोज जॉर्ज, श्री अमित यादव, श्री रवि यादव, श्री प्रभाकर दास, मलेरिया निरीक्षक श्री सावन कंडारे, श्री अरविंद सेठिया, डॉ.अरविंद भटनागर, डॉ.एसके कंठ, डॉ.डीपी जाटव एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मी तथा सफाईकर्मी मौजूद थे। लोगों को विशेष वाहन से अपने-अपने घरों के लिये रवाना किया गया। स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा ठीक होकर जा रहे लोगों को अच्छे स्वास्थ्य और जीवन की शुभकामनाएं दी गई।



उज्जैन 11  मई  ।  जिला प्रशासन द्वारा  आपातकालीन स्थिति को देखते हुए उज्जैन जिले में दो एडवांस लाइफ सपोर्ट 108 एंबुलेंस उपलब्ध   तैयार  कराई गई हैं।  यह  एम्बुलेंस  बेसिक लाइफ   सपोर्ट   एम्बुलेंस  में   एडवांस  उपकरण  लगाकर  तैयार  की  गई  है । इन  दोनों  एम्बुलेंस  में  वेंटीलेटर, मल्टी पैरामीटर, सक्शन मशीन, थर्मामीटर, बीपी मशीन, ग्लूकोमीटर, ऑक्सी मीटर व नेबुलाइजर मशीन की  सुविधा  उपलब्ध  है ।उक्त  सुविधा  मिलने  से  अब   कोरोना  के  गम्भीर  मरीज जिनको ग्रीन  हॉस्पिटल  से    रेड हॉस्पिटल  में  शिफ्ट  किया  जाना  है  का  जीवन   शिफ्टिंग  के   दौरान  बचाया  जा सकेगा ।

कलेक्टर  श्री  आशीष  सिंह  ने  बताया   कि स्वास्थ्य विभाग में एक एम्बुलेंस एडवांस सपोर्ट सिस्टम के साथ पहले से मौजूद है। अब 3 एडवांस सपोर्ट एम्बुलेंस होने से उज्जैन शहर में  कोरोना  पीड़ित गंभीर मरीजों को लाने ले जाने में सुविधा होगी।इसी के  साथ  10 बेसिक लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस उज्जैन जिले में पूर्व  से  ही    कार्यरत  है।




उज्जैन  11 मई  । कलेक्टर श्री आशीष सिंह निर्देश  पर    अपर कलेक्टर श्री सोजान सिंह रावत   ने  आज  आर डी  गार्डी  मेडिकल  कॉलेज  में  भर्ती  कोरोना पॉजिटिव  मरीजों को धार्मिक पुस्तकें एवं ईश्वर का नाम जपने के लिए मालाएं उपलब्ध कराई  । मालाए व धर्मिक पुस्तके वार्ड प्रभारी श्री दिलीप शर्मा  द्वारा सभी को  भेंट  की  गई।

वार्ड में भर्ती एक मुस्लिम महिला ने इस पर  कलेक्टर   श्री  सिंह का  विशेष धन्यवाद अदा किया कि रमजान के महीने में उन्हें इबादत के लिए मुस्लिम धर्म की किताब एवं जाप करने के लिए माला  उपलब्ध करवाई  गई  है । वार्ड में भर्ती हिन्दू मरीजो के लिए भी माला एवं धार्मिक पुस्तक प्रदान की ताकि वे  हौसला   कायम रखकर कोरोना से लड़कर जल्द स्वस्थ हो कर  घर  लौटे ।



उज्जैन 10 मई। रविवार को मक्सी रोड स्थित पीटीएस से 47 वर्षीय शाहीन खान पति शाकिर खान कोरोना वायरस के संक्रमण से पूर्णत: स्वस्थ होकर अपने घर लौटी। इस दौरान अपर कलेक्टर श्री अत्येन्द्रसिंह गुर्जर एवं अन्य चिकित्सकों द्वारा ठीक होकर जा रही शाहीन से पीटीएस में उनके अनुभव के बारे में पूछा तथा शुभकामनाएं देकर उन्हें अपने घर के लिये विदा किया। डॉ.महेन्द्रसिंह यादव द्वारा ठीक होकर जा रही को प्रमाण-पत्र दिया गया तथा उन्हें सार्थक एप डाउनलोड करने और एहतियात के तौर पर 14 दिन के लिये अपने घर में सेल्फ क्वारेंटाईन होने के लिये कहा गया।
अपने घर जा रही शाहीन ने कहा कि वे 13 अप्रैल को पीटीएस में आई थीं। यहां बिलकुल परिवारजनों की तरह स्वास्थ्यकर्मियों से सहयोग मिला तथा बीमारी से लड़ने का हौसला मिला। शाहीन ने कहा कि कोरोना वायरस से डरने की जरूरत नहीं है, मजबूत इच्छाशक्ति हो तो इस वायरस से भी जीता जा सकता है, हमें बस उपचार के दौरान सकारात्मक सोच रखने की आवश्यकता है। शाहीन ने कहा कि कोरोना के मामूली लक्षण होने पर भी तत्काल डॉक्टर को दिखाना ही सबसे बड़ी समझदारी है। वे घर जाकर अपने सगे-सम्बन्धियों तथा आस-पड़ौस के लोगों को भी यही समझाईश देंगी कि कोरोना वायरस से सतर्क रहकर ही हम अपने आपको बचा सकते हैं।
इस दौरान डॉ.एएस तोमर, डॉ.एसके अखंड, डॉ.रोहन कांठेड़, नर्स एम्बरोज जॉर्ज, श्री अनिल यादव, श्री रवि यादव, स्वास्थ्यकर्मी श्री प्रभाकर दास, मलेरिया निरीक्षक श्री सावन कंडारे, श्री अरविंद सेठिया, डॉ.रवीन्द्र भटनागर, डॉ.एसके कंठ, डॉ.डीपी जाटव एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मी तथा सफाईकर्मी मौजूद थे। लोगों को विशेष वाहन से अपने-अपने घरों के लिये रवाना किया गया। स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा ठीक होकर जा रहे लोगों को अच्छे स्वास्थ्य और जीवन की शुभकामनाएं दी गई।




भोपाल संवाददाता सुनील परमार - इस समय कोरोना महामारी से पूरे विश्व में भयानक त्रासदी आई है।लोग भुक से बिलख रहे है।लाखो जनहानि हो रही हैं।वही गरीब मजदूर महिलाएं बच्चें हजार हजार किलोमीटर पैदल चल कर अपने घरों में पहुंच रहे है।
              हिंदुत्व हितरक्षक आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी महाराज धर्मगुरु मिर्ची बाबा निरंतर कई दिनों से गरीबों,मजदूरों एवं जरूरतमंद लोगों को खाद्य सामग्री से लेकर उनकी हर जरूरतों का सामान वितरित कर रहे हैं।जिसमें आटा दाल चावल आलू प्याज सब्जियां साबुन सर्फ चप्पल आदि शामिल है। आज भी आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने ग्वालियर की हजीरा बस्ती में जरूरतमंद लोगों को 50 क्विंटल आटा सहयोग के रूप में दिया।
         आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा एकमात्र पहले ऐसे संत हैं।जो सबसे पहले दीन दुखियों की मदद के लिए आगे आए हैं। शहर में कई बड़े-बड़े आश्रम अलग-अलग अखाड़े के हैं और कई महामंडलेश्वर इन अखाड़ों का संचालन ग्वालियर से करते हैं।लेकिन उन्होंने इस भयानक महामारी में भी मदद के लिए अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है। ग्वालियर भिंड मुरैना भोपाल दतिया आदि शहरों के नागरिकों ने महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा की प्रशंसा की है। और कहा है कि अगर उनकी तरह शहर के अन्य वरिष्ठ संत भी सहयोग के लिए आगे आ जाएं तो शहर में कोई भी गरीब, मजदूर भूखा नहीं मरेगा।




भोपाल संवाददाता आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्म गुरु मिर्ची बाबा को जैसे ही सूचना मिली की भोपाल के कटारा हिल्स क्षेत्र में गौ माता बीमार पड़ी है।तब महाराज जी ने ग्वालियर में रहते हुए तुरंत नगर निगम भोपाल मैं श्री तिवारी से फोन करके कहा कि कटारा हिल्स में गौ माता बीमार है उसे तुरंत उठाकर इलाज करवाओ और श्री तिवारी ने कुछ देर बाद निगम की टीम को भेजकर गौ माता को इलाज के लिए पशु चिकित्सालय भिजवा दिया। समय रहते इलाज होने पर गौ माता की जान बच गई।
            आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण हुए लॉक डाउन का असर पशुओं पर भी पड़ रहा है। ऐसे में जनता जनार्दन से अपील की है कि गौ माता की रक्षा के लिए घर में बचा हुआ भोजन जो भी पशु या गौमाता दिखे तो उन्हें खिला दें।और हो सके तो उनके लिए पीने के पानी की भी व्यवस्था करें।




भोपाल कोरोना वायरस के कारण हुए लॉक डाउन का असर शहर के पशुओं पर भी पढ़ रहा है।ऐसा ही एक नजारा कटारा हिल्स मैं देखने को मिला वहां पर एक गौ माता अचानक चक्कर खाकर गिर गई।वहीं पास से गुजर रहे स्वतंत्र समय के पत्रकार  सुनील परमार की नजर जब गौमाता पर पड़ी तब उन्होंने आसपास के लोगों की मदद से गौ माता को उठाने की कोशिश की एवं पानी पिलाया और नगर निगम की टीम को फोन करके उक्त घटना की जानकारी दी।कुछ देर बाद ही नगर निगम की टीम ने आकर गाय को पशु चिकित्सालय भिजवाया।
निगम टीम प्रभारी सोहेल हसन ने बताया की लॉकडॉउन के कारण गायों को पर्याप्त चारा और पानी नहीं मिल पा रहा है। और गौ सेवकों की भी शहर में कमी आई है।जिसके कारण गाय ज्यादा बीमार हो रही है। हसन ने बताया कि उनकी पूरी टीम जिसमें कुल 6 लोग है। रितेश बाथम, ओम, शानू ,अनुज, हेमंत यादव ,विजय यादव रोजाना  हमें सात से दस बीमार गायो की सूचना मिलती हैं।और हम उन्हें तुरंत उठा कर पशु चिकित्सालय में इलाज करवाते हैं। ऐसे में उन्होंने लोगों से अपील की है कि घरों में बचा हुआ भोजन जो भी पशु दिखे उसे खिला दें।जिससे कि कोई भी पशु भूक से ना मरे।




गवालियर । भारत में सोशल मीडिया का चलन दिन व दिन बढ़ता जा रहा है सोशल मीडिया का दुरुपयोग किया जा रहा है लोग वाह वाही लूटने के लिए किसी का भी कार्टून बनाकर वाह वाही लूटने मे लगा हुआ है जिसकी स्वामी वैराग्य नंद उर्फ मिर्ची बाबा ने घोर निंदा की है हाल ही में सोशल मीडिया पर भारत के गृह मंत्री अमित शाह के लिए अनाप-शनाप लोग टिप्पणियां कर रहे हैं उच्च शिखर पर विराजमान गृहमंत्री अमित शाह के लिए फेसबुक व्हाट्सएप पर जो भी लोगों ने कमेंट किए हैं यह सब गलत है इसलिए मैं इसकी घोर निंदा करता हूं आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी महाराज और आगे संपूर्ण भारतवर्ष की जनता से अपील करता हूं हमारे देश के सम्माननीय प्रधानमंत्री के भी कार्टून बनाकर फेसबुक और ट्विटर पर और व्हाट्सएप पर ना डालें संवैधानिक पद पर बैठे हुए प्राणी से संवाद करें नाकी विवाद करें गरीबों की बात हम करें समाज सुधारने की बात हम करें बाकी हम अपने देश के प्रधानमंत्री का सम्मान भी करें जय सियाराम जय भारत




मां, समूची धरती पर बस यही एक रिश्ता है जिसमें कोई छल कपट नहीं होता। कोई स्वार्थ, कोई प्रदूषण नहीं होता। इस एक रिश्ते में निहित है अनंत गहराई लिए छलछलाता ममता का सागर। शीतल, मीठी और सुगंधित बयार का कोमल अहसास। इस रिश्‍ते की गुदगुदाती गोद में ऐसी अनुभूति छुपी है मानों नर्म-नाजुक हरी ठंडी दूब की भावभीनी बगिया में सोए हों। 
 
मां, इस एक शब्द को सुनने के लिए नारी अपने समस्त अस्तित्व को दांव पर लगाने को तैयार हो जाती है। नारी अपनी संतान को एक बार जन्म देती है। लेकिन गर्भ की कच्ची आहट से लेकर उसके जन्म लेने तक वह कितने ही रूपों में जन्म लेती है। यानी एक शिशु के जन्म के साथ ही स्त्री के अनेक खूबसूरत रूपों का भी जन्म होता है। 
 
पल-पल उसके ह्रदय समुद्र में ममता की उद्दाम लहरें आलोडि़त होती है। अपने हर 'ज्वार'  के साथ उसका रोम-रोम अपनी संतान पर न्योछावर होने को बेकल हो उठता है। नारी अपने कोरे कुंवारे रूप में जितनी सलोनी होती है उतनी ही सुहानी वह विवाहिता होकर लगती है लेकिन उसके नारीत्व में संपूर्णता आती है मां बन कर। संपूर्णता के इस पवित्र भाव को जीते हुए वह एक अलौकिक प्रकाश से भर उठती है। उसका चेहरा अपार कष्ट के बावजूद हर्ष से चमकने लगता है। उसकी आंखों में खुशियों के सैकड़ों दीप झिलमिलाने लगते हैं।

मां के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए एक दिवस नहीं एक सदी भी कम है। किसी ने कहा है ना कि सारे सागर की स्याही बना ली जाए और सारी धरती को कागज मान कर लिखा जाए तब भी मां की महिमा नहीं लिखी जा सकती।



ग्वालियर जिले के सेतरी गांव निवासी दिनेश शर्मा ने बताया कि मेरी बहन मंजू का विवाह 6 वर्ष पूर्व जितेन शर्मा निवासी पारसन गांव थाना बिजौली जिला ग्वालियर से हुआ था। मेरी बहन को उसके ससुराल पक्ष के लोग शुरू से ही दहेज के लिए मारते पीटते थे लगातार पैसों की मांग करते हैं हमारे द्वारा ₹200000 रुपए दिए जाने के बाद भी दिनांक 15:12 2019 को उसे जलाकर मार डाला।
          मृतका के भाई  दिनेश शर्मा ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि मेरी बहन के मरने के 6 दिन बाद एफ आई आर दर्ज की गई। जिसमें अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है और मेरी बहन का ताया ससुर अशोक शर्मा,जेठ गिरिराज शर्मा, देवर धर्मेंद्र शर्मा आए दिन राजीनामा करने का दबाव डालते हुए धमकाते हैं कि जैसे तेरी बहन को जलाकर मार दिया वैसे ही तेरे पूरे परिवार को जलाकर मार देंगे हमारा पुलिस भी कुछ नहीं बिगाड़ सकती हम बहुत पावरफुल लोग हैं एसपी कलेक्टर हमारी जेब में रहते हैं इसीलिए अभी तक हम खुलेआम बाहर घूम रहे हैं।
      दिनेश ने बताया कि पूरे मामले मैं उसके द्वारा कई बार थाने पर आरोपियों के खिलाफ आवेदन भी दिए गए लेकिन पुलिस द्वारा अभी तक कोई भी कार्यवाही नहीं की गई है। और यदि हमें जल्द ही न्याय नहीं मिला तो मेरा पूरा परिवार गवालियर एसपी कलेक्टर के सामने आत्महत्या कर लेंगे।




मृतका मंजू



आरोपी अशोक शर्मा




आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने महाराणा प्रताप की जयंती पर देश व प्रदेश वासियों को हार्दिक बधाई एवं मंगलमय शुभकामनाएं दी है।

उन्होंने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि महाराणा प्रताप का जीवन राष्ट्रीय स्वाभिमान का प्रतीक हैं उनके जैसा स्वाभिमान का उदाहरण इतिहास में मिलना मुश्किल है। राष्ट्रभक्ति और देशप्रेम के महानायक महाराणा प्रताप का जीवन हम सबके लिए प्रेरणा स्रोत है। हम सबको उनके जीवन दर्शन पर चलने का न केवल संकल्प लेना चाहिए बल्कि उनके जीवन आदर्शों को आत्मसात भी करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि महाराणा प्रताप की जयंती पर हम सब लोग लाॅक डाउन व सामाजिक दूरी का पालन करने का संकल्प लें, यही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।




भोपाल संवाददाता सुनील परमार - जब मध्यप्रदेश आने के लिए प्रवासी मजदूरों को ट्रेन की आवश्यकता थी तब ट्रेन उनके उपर से गुजर गई, अब विडबना है कि ट्रेन से ही उनके शवों को मध्यप्रदेश में लाया जा रहा हैं। 

सरकार ने हर एक नागरिक की कीमत लगा दी है मध्यप्रदेश के 16 मजदुरों की औरंगाबाद के निकट रेल दुघर्टना में हुई निर्मम मृत्यु पर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने अक्रोश व संवेदना व्यक्त करते हुए उनके परिवार एक-एक करोड की आर्थिक सहायता देने की मांग करते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज चैहान के उस दावे की पौल खोल दी है जिसमें कहा कि मजदुरों को ससम्मान मध्यप्रदेश में लाया जा रहा है। 
आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने औरंगाबाद में सरकार की बदइंतजामी के चलते असमय ही काल के गाल में समा गए 16 से अधिक श्रमिकों को मालगाडी द्वारा रोंद दिए जाने की इस ह्दयविदारक घटना पर गहरा दुःख प्रकट करते हुए मध्यप्रदेश सरकार की प्रवासी मजदूरों को प्रदेश में लाने की नीति पर आरोप लगाते हुए कहा कि विगत डेढ माह से मध्यप्रदेश के हजारों प्रवासी मजदूर देश के विभिन्न प्रांतों में फंसे हुए थे लेकिन उनकी सुध प्रदेश सरकार ने नहीं ली। 

जब प्रवासी मजदूरों के पास न तो खाने को बचा था और ना ही उनके पास आने-जाने के पैसे थे ऐसे में मजदूर पैदल ही अपने घरों की और पटरी किनारे चल दिए, जिन्हें मालगाडी ने दर्दनाक तरीके से रौंद दिया।
 50 दिनों में भी मजदूरों की व्यथा नहीं समझ पाई सरकार 

आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने कहा कि ट्रेन के ड्रायवर को क्या कहा जाऐ उसे तो चंद सेकण्ड ही मिले होंगे मजदूरों को देखने के लिए लेकिन केन्द्र सरकार और रेल विभाग को क्या कहें जिनके पास 50 दिन थे उनकी व्यथा समझते हुए उनको लाने की कार्य योजना बनाने के लिए। 
एक हजार किलोमीटर की पैदल यात्रा कर प्रदेश की बार्डर पर पहुॅंच रहे मजदूर 
मिर्ची बाबा ने कहा कि बाहर से आने वाले मजदुरों के लिए शासन द्वारा ऐसा कोई तंत्र स्थापित नहीं किया गया जिससे की वहां योजना का लाभ उठाकर अपने घर सकुशल पहुंच सके हमारे क्षेत्र में पूर्व में जो मजदुर आये वो 1100-1200 किलोमीटर पैदल चलकर मध्यप्रदेश की सीमा पर पहुंचे थे तथा वहां से बस में बैठाकर लाया गया था l 
मध्यप्रदेश सरकार ने गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र, पंजाब आदि प्रदेशों में अन्य राज्यों मे पीडित मजदुरों से संबंधित राज्य सरकारों से न तो सम्वाद स्थापित किया और न ही मजदुरों से सम्पर्क किया जिसके के कारण पुरे देश में मध्यप्रदेश के मजदुरो की दुरदशा हो रही है ओर गंभीर दुर्घटना भी हो रही है प्रदेश सरकार आसानी से आने वाले मजदुरों को लाकर क्षेय लेने की राजनीति कर रही है लेकिन मजदुरों को लाने के लिए शुरू से ही गंभीर नहीं है यहां तक कि अपने स्वयं के वाहनों से आने के लिए भी पास नहीं बन रहे है न ही प्रदेश में एक स्थान से दुसरे स्थान आने-जाने के लिए पास की व्यवस्था हो पा रही है। 
आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि पीडित मजदुरों की सरकारों से सम्पर्क करके मजदुर जहां पर फंसे है उसी स्थान से लाने की कार्य योजना बनाई जाये अन्यथा गंभीर परिणाम होगें।

देपालपुर से दिपक सेन कि रिपोर्ट देपालपुर के पास ग्राम अटहैड़ा में कुछ लोगों द्वारा एक युवक पर धारदार हथियार से किया हमला जिसमें युवक दिलीप पिता विक्रम उम्र 30 साल को सिर में गंभीर चोटें आई परिजनों द्वारा बताया जाता है कि हमारी ग्राम अटांहैडा में वेल्डिंग की दुकान है वहां पर कुछ लोग बिल्डिंग करवाने के लिए आए थे लेकिन जब पैसा मांगा तो उन्होंने धारदार हथियार से हमला कर दिया देपालपुर 108 इमरजेंसी एंबुलेंस के डॉक्टर गोकुल गौड़ वह पायलट छन्नू पाल ने घायल को तुरंत इंदौर एम वाई हॉस्पिटल पहुंचा कर घायल की जान बचाई



भोपाल संवाददाता सुनील परमार - महाराष्ट्र के औरंगाबाद ट्रैक पर 16 प्रवासी मजदूरों की मौत पर महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी महाराज मिर्ची बाबा ने केंद्र और  राज्य सरकारों पर लगाए आरोप देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने भाषणो में कहते थे मेरे देश के मजदूर हवाई यात्रा करेंगे। लेकिन यह मजदूर जिस राज्य की सरकार में रह रहे थे वही की सरकार द्वारा उन्हें बेदखल कर भगाया जा रहा है सरकारे मजदूरों की नहीं सोच रही है। लेकिन इस भारत देश का दुर्भाग्य है कि किसी वरिष्ठ नेता का पुत्र किसी कॉलेज में पड़ता है तो उनके लाने के लिए बसों और ट्रेनों की व्यवस्था प्रशासन द्वारा कर दी जाती है।  आज यह अंधी बहरी सरकार उन गरीबों की नई सोच रही है देश के प्रधानमंत्री राज्य सरकारों से कहे गरीबों को घर पहुंचाने की तैयारी करें लेकिन राज्य सरकारें गरीब मजदूरों को भेजने की तैयारी नहीं करते हुए राज्य की शराब दुकानें खोलने में लगी हुई है और अपने खजाने भरने में लगी हुई है महाराष्ट्र सरकार के उद्धव ठाकरे पर भी मिर्ची बाबा ने लगाए आरोप


देपालपुर से दिपक सेन कि रिपोर्ट *देपालपुर:--दामोदर वंशिय जूना गुजराती दर्जी समाज द्वारा प्रति वर्ष आराध्य गुरुदेव श्री श्री 1008 श्री टेकचन्द जी महाराज का जन्मोत्सव सामाजिक बन्धुओ द्वारा हर्षोल्लास से मनाया जाता हैं मगर ईस वर्ष सम्पुर्ण भारत वर्ष में फेली वैश्विक महामारी कोरोना के चलते अपने आराध्य गुरुदेव श्री श्री 1008 श्री टेकचन्द जी महाराज के जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में पूर्णिमा 7 मई को अपने अपने निज निवास स्थान पर पारिवारिक सदस्यों साथ गुरु महाराज की आरती कर गुरुदेव का जन्मदिन मनाया गया । और गुरुदेव से प्रार्थना कि संपूर्ण विश्व को इस संकट से उबारे। तथा रात्रि में अपने घरो पर 5 -5 दीपक जलाएं गए हमारा आप सभी से निवेदन हेै प्रसासन के नियमों का पालन करे एवं प्रसासन का सहयोग करे, घर पर रहै परिवार को सुरक्षित रखें
7



भोपाल संवाददाता सुनील परमार
आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने सीएम शिवराज सिंह पर निशाना साधते हुए कहा है कि उन्होंने कहा था कि उनकी प्राथमिकता कोरोना आपदा से निपटना है लेकिन यहां तो शिवराज सिंह चौहान ट्रांसफर उद्योग खोल कर बैठ गए हैं।
         आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्य नंद गिरी धर्मगुरु मिर्ची बाबा ने शिवराज सरकार को नसीहत देते हुए कहा है कि राज्य में तेजी से फैल रही इस महामारी से निपटने की तैयारी करे ना की प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले करें। क्योंकि जिले में बैठा हुआ हर प्रशासनिक अधिकारि उसके जिले की स्थिति को भलीभांति जानता है। इसलिए वर्तमान समय में किसी भी प्रशासनिक अधिकारी का तबादला ना करें। इससे स्थिति और गंभीर हो सकती है। प्रदेश की गरीब जनता व प्रवासी मजदूरों के लिए उचित व्यवस्था करवाएं साथ ही इस वक्त कोई भी झूठी घोषणाएं ना करें।
           साथ ही महाराज जी ने शिवराज सिंह से अनुरोध किया है कि माननीय प्रधानमंत्री जी ने सभी राज्य सरकारों को आदेशित किया था कि इस कोरोना आपदा के समय मैं किसी भी अधिकारी का तबादला ना करें । उनके आदेश का पालन करें।

देपालपुर से दिपक सेन कि रिपोर्ट देपालपुर।नगर के अजय आहूजा ने बताया कि आज खंडेलवाल किराना पर एक वृद्ध माता चाय शक्कर एवं दाल लेने के लिए आए कुल मिलाकर उनके पास ₹40 थे जिसमें उन्होंने सभी सामान लिया मेरे एक सहयोगी प्रेम राठौर जी वहीं पर खड़े थे उन्होंने देखा और बोला भैया इन्हें राशन की बहुत आवश्यकता है मैंने बोला उन्हें सम्मान सहित बुला लो और इन्हें राशन सामग्री दे दीजिए उन्होंने उस वृद्ध माता को बुलाया और राशन सामग्री का पैकेट दिया उम्र अधिक होने के कारण वह सामान उठा नहीं पा रहे थे हमारे सहयोगी उन्हें राशन लेकर घर पर छोड़ने गए मेरे द्वारा उन्हें जब बताया गया कि यह सामग्री भारतीय जनता पार्टी के सांसद शंकर जी लालवानी एवं सम्मानीय पूर्व विधायक मनोज जी पटेल द्वारा वितरित की जा रही है तो उन्होंने दिल से दोनों को दुआएं दी और बताया जिन लोगों को आवश्यकता है उन लोगों तक सामग्री नहीं पहुंच पाती जो लोग बार-बार सामग्री लेने चले जाते हैं उन लोगों को ही सामग्री मिल रही है मेरी उम्र बहुत अधिक है इसलिए में कहीं भी नहीं जा सकती हूं मेरे घर पर कुछ गेहूं खेतों से बीन कर लाई थी वह बेच का सामान लेने आई हूं उनकी अवस्था देखकर मन करुणा से भर गया है ईश्वर सब पर अपना आशीर्वाद एवं दया बनाए रखें ।

जिला संवाददाता हुसैन खान रतलाम सास भी कभी बहु थी , इस दर्द को एक सास ने इतनी अच्छी तरह से समझ की अपने इकलौते बेटे की मौत के बाद अपनी बहू को अपनी बेटी बना कर उसके हाथ पीले कर उसके जीवन को एक नया रंग दे दिया। मामला रतलाम का है , सास ससुर ने अपनी ढलती उम्र को देख अपनी बहू को बेटी की तरह पुर्नविवाह कर कन्यादान पूरी रीति रिवाज के साथ कर अपने घर से बिदा कर दिया । और खुशियों भरी इस शादी में लॉक डाउन भी आड़े नही आया । सोशल डिस्टेंट बनाते हुए तीन परिवारों के सीमित सदस्यों के बीच ही शहनाई की गूंज , गूंज उठी । दरअसल काटजू नगर निवासी 65 वर्षीय सरला जैन के पुत्र मोहित जैन का आष्टा निवासी सोनम के साथ 6 साल पहले विवाह हुआ था । लेकिन शादी के 3 साल बाद ही पुत्र मोहित केंसर से पीड़ित हो गए । तीन सालों तक बहु सोनम ने अपने पति की जमकर सेवा की लेकिन जीवन की जंग मोहित हार गया । उसके बाद भी सोनम सास ससुर के पास बेटी की तरह रहने लगी । सोनम की सेवा और उसके जीवन की खुशियों की परवाह उनकी सास ने की अपने भाई ललित कांठेड़ और सोनम के परिजनों से पुर्नविवाह की बात की , सब एक स्वर राजी हुए तो नागदा में एक रिश्ता पक्का कर दिया । परिजनों को नागदा जा कर शादी करनी थी , होटल भी बुक हो गया था , लेकिन लॉक डाउन होने से जब दिक्कते आती दिखी , तब मोहित के मामा ललित कांठेड़ ने प्रशासन से बात की और अपने ही घर पर बहु सोनम को बेटी की तरह फिर बहु बना कर शादी कर दी गई । एक पल 6 साल पहले था जब सास अपनी बहू सोनम को आष्टा से खुशी खुशी बिदा कर लायी थी , और एक पल 6 साल बाद ऐसा आया कि उसी सास ने अपनी बहू सोनम को बेटी बना कर बिदा किया तो सास , ससुर की आंखों से आसूं छलक पड़े ।



उज्जैन संवाददाता दिलीप मालवीय आज जब हमारा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है ऐसे में कई समाजसेवी संस्था इस महामारी से उबरने के लिए आगे आई है ऐसे में उज्जैन के आनंदक़ ग्रुप ने भी मोर्चा संभाला है इस संस्था द्वारा लगातार गरीबों को कच्चा राशन उपलब्ध कराया जा रहा है।
आनंदक ग्रुप के संचालक श्री केसर सिंह ने बताया कि वे स्वयं एवं उनकी टीम जब से लॉक डाउन लागू हुआ है उस दिन से ही हम लोग उज्जैन शहर की गरीब बस्तियों में जाकर गरीबों एवं। मजदूर वर्ग के लोगों को भोजन एवं कच्चा राशन वितरित कर रहे हैं और जब तक हमारा देश इस कोरोना जैसी महामारी पर विजय प्राप्त नहीं कर लेता है तब तक हमारी पूरी टीम ऐसे ही जनसेवा करती रहेगी। उन्होंने बताया कि आज उज्जैन के हामूखेड़ी गांव में स्थित कुष्ठ बस्ती में कच्चे राशन के लगभग 250 पैकेट वितरित किए हैं। इसमें हमु खेड़ी में रहने वाले बालू, राजाराम सूरज पप्पू आदि ने सामग्री वितरण करने में सहायता की है।

केसर सिंह ने बताया कि वह शासन प्रशासन की मदद से गरीबों को राशन उपलब्ध करा रहे हैं।

Trending

[random][carousel1 autoplay]

NEWS INDIA 19

{picture#https://lh4.googleusercontent.com/-VoMUBfl84_A/AAAAAAAAAAI/AAAAAAAAAl0/dYNz-ThYfQA/s512-c/photo.jpg} 'News19 India' established in Madhya Pradesh is an 24 hour's Satelite News channel & Hiring Hindi News paper. Its Beginning on August 2018 and its Headquarters are in Indore, Madhya Pradesh. In a very short Time this became India's Most Popular Hindi News Portal & News Paper and Has Consistently Maintained its Reputation.
Blogger द्वारा संचालित.