"प्रेरक कहानी" पीटीएस में इलाज के दौरान मिली घर से ज्यादा अच्छी सुविधाएं, कोरोना से जंग जीतकर काफी अर्से बाद आज अपने बच्चों को देख सकेंगे मो.हुसैन, पीटीएस से 9 लोग पूर्णत: स्वस्थ होकर अपने घरों को गये



उज्जैन 11 मई। सोमवार को मक्सी रोड स्थित पीटीएस से नौ लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से पूर्णत: स्वस्थ होकर अपने-अपने घरों को गये। इस दौरान 65 वर्षीय मो.हुसैन पिता मो.इब्राहिम ने पीटीएस में इलाज के दौरान बिताये गये दिनों का अनुभव साझा करते हुए कहा कि यहां इलाज के दौरान उन्हें घर से ज्यादा अच्छी सुविधाएं मिली हैं। अफसोस सिर्फ इस बात का था कि वे काफी दिनों से अपने बच्चों को देख नहीं पाये थे। आज जब वे कोरोना से जंग जीतकर पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने बच्चों को जब देखेंगे, ये सोचकर ही मो.हुसैन की आंखों से खुशी के आंसू झलक गये। उन्होंने कहा कि वे प्रशासन और स्वास्थ्यकर्मियों का दिल से शुक्रिया अदा करते हैं कि उन्होंने बिलकुल परिवार के सदस्य की तरह न सिर्फ उनका ख्याल रखा बल्कि कोरोना जैसी बीमारी से लड़ने में उनकी हौसला अफज़ाई भी की।
अपर कलेक्टर श्री अत्येन्द्रसिंह गुर्जर एवं अन्य चिकित्सकों द्वारा मो.हुसैन के साथ ठीक होकर जा रहे अन्य लोगों से भी पीटीएस में उनके अनुभव के बारे में पूछा गया तथा शुभकामनाएं देकर लोगों को अपने घरों के लिये विदा किया। 
एक अन्य तीन वर्षीय बच्ची नूरी फातिमा पिता मो.तारीश ने बिते दिनों पीटीएस में रहकर अपनी मासूमियत से सभी स्वस्थ्यकर्मियों का दिल जीत लिया था। आज जब वह पूरी तरह ठीक होकर अपने घर जा रही थी तो विदा लेते समय स्वास्थ्यकर्मियों के लिये यह एक भावुक पल था जब डॉक्टर द्वारा नूरी फातिमा को प्रमाण-पत्र दिया गया तब उसने बस में बैठते हुए सभी चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों को हाथ हिलाकर अभिवादन दिया।
डॉ.महेन्द्रसिंह यादव और अपर कलेक्टर श्री अत्येंद्रसिंह गुर्जर द्वारा ठीक होकर जा रहे लोगों को प्रमाण-पत्र दिये गये तथा उन्हें एहतियात के तौर पर 14 दिन के लिये अपने-अपने घरों में सेल्फ क्वारेंटाईन होने के लिये कहा गया तथा सार्थक एप डाउनलोड करने की हिदायत भी दी गई।
पूर्णत: स्वस्थ होकर सोमवार को पीटीएस से अपने घरों के लिये रवाना हुए लोगों में उक्त दो लोगों के अलावा 26 वर्षीय शाईमा पति इरफान, 60 वर्षीय सबाराबी पति मो.हुसैन, 33 वर्षीय हेमलता गुप्ता पति रविकृष्ण गुप्ता, सचिन गुप्ता पिता कृपादास गुप्ता, परवीन पति तारीश, 48 वर्षीय जुल्फिकार पिता हकीमउद्दीन और 45 वर्षीय जमील कुरैशी पिता फाजिल कुरैशी शामिल थे। इस दौरान डॉ.एएस तोमर, डॉ.दीपक विश्वकर्मा, डॉ.एसके अखंड, डॉ.रोहन कांठेड़, स्वास्थ्यकर्मी श्री एम्बरोज जॉर्ज, श्री अमित यादव, श्री रवि यादव, श्री प्रभाकर दास, मलेरिया निरीक्षक श्री सावन कंडारे, श्री अरविंद सेठिया, डॉ.अरविंद भटनागर, डॉ.एसके कंठ, डॉ.डीपी जाटव एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मी तथा सफाईकर्मी मौजूद थे। लोगों को विशेष वाहन से अपने-अपने घरों के लिये रवाना किया गया। स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा ठीक होकर जा रहे लोगों को अच्छे स्वास्थ्य और जीवन की शुभकामनाएं दी गई।

Reactions: